तीसरा प्रमोद वर्मा आलोचना सम्‍मान कमला प्रसाद को

E-mail Print PDF

प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्था ‘प्रमोद वर्मा स्मृति संस्थान’ द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर आलोचना के लिए दिया जानेवाला महत्वपूर्ण सम्मान जाने-माने आलोचक डॉ. कमला प्रसाद को दिये जाने का निर्णय लिया गया है। रायपुर में इसकी घोषणा की गई परन्‍तु दुर्भाग्‍य रहा कि घोषणा के बाद दिल्‍ली के एम्‍स में उनका इलाज के दौरान निधन हो गया।

पुरस्‍कार चयन समिति में केदार नाथ सिंह, दिल्ली, श्री गंगाप्रसाद विमल, दिल्ली, डॉ. धनंजय वर्मा, भोपाल, श्री विश्वनाथ प्रसाद तिवारी, गोरखपुर व संस्थान के चैयरमैन विश्वरंजन और संयोजक जयप्रकाश मानस थे। यह सम्मान आगामी 14-15 मई को भिलाई में फ़ैज़ अहमद फ़ैज और केदारनाथ अग्रवाल पर होनेवाले राष्ट्रीय विमर्श के अवसर पर प्रदान किया जाने वाला था।

ज्ञातव्य हो कि वरिष्ठ वर्ग में यह सम्मान अब तक श्रीभगवान सिंह, भागलपुर और श्री मधुरेश, बरेली तथा युवा वर्ग में यह सम्मान श्री कृष्णमोहन, वाराणासी तथा ज्योतिष जोशी, दिल्ली को प्राप्त हो चुका है। इस सम्मान के तहत 21 हज़ार की नगद राशि, प्रतीक चिन्ह, शाल, श्रीफल तथा प्रमोद वर्मा समग्र भेंट किया जाता है।

14/02/1938, सतना (म.प्र.) में जन्मे श्री कमला प्रसाद एम.ए., पीएच. डी.व सागर विश्वविद्यालय से डी. लिट थे। उनकी अन्य प्रकाशित कृतियाँ हैं - साक्षात्‍कार- वार्तालाप, बच्चों की पुस्तक- जंगल बाबा, विनिबंध- यशपाल, अवधेश प्रताप सिंह। उन्हें इसके पूर्व म. प्र. सा‍हित्य अकादमी का नंददुलारे वाजपेयी पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।


AddThis