प्रेम भाटिया एवार्ड से नीरजा व गार्गी सम्मानित

E-mail Print PDF

वरिष्ठ पत्रकार, स्तंभकार व द इंडियन एक्सप्रेस की पूर्व राजनीतिक संपादक नीरजा चौधरी को पत्रकारिता क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य के लिए वर्ष 2009 का प्रेम भाटिया एवार्ड प्रदान किया गया। द हिंदू की डिप्टी एडिटर गार्गी परसाई को पर्यावरण श्रेणी में प्रेम भाटिया एवार्ड दिया गया। दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में शुक्रवार को आयोजित एक कार्यक्रम में दोनों वरिष्ठ महिला पत्रकारों को यह एवार्ड पूर्व एयर चीफ मार्शल ओपी मेहता ने प्रदान किया। यह एवार्ड प्रेम भाटिया मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से हर साल दिया जाता है। नीरजा चौधरी को एवार्ड के तहत प्रशस्ति पत्र के साथ एक लाख रुपये दिए गए जबकि गार्गी को प्रशस्ति पत्र के अलावा पचार हजार रुपये प्रदान किए गए।

सटीक राजनीतिक विश्लषण के लिए मशहूर नीरजा चौधरी सामाजिक सरोकारों के लिए भी जानी जाती है। वे द स्टेट्मैन में 1982 से 1987 तक सिविल राइट्स करेस्पांडेंट के रूप में कार्य करती रहीं और इस दौरान मानवाधिकार से जुड़े मुद्दों पर जमकर लिखा। नीरजा द इंडियन वोमेन्स प्रेस कार्प्स की चेयरपर्सन भी हैं। एवार्ड पाने वाली वरिष्ठ पत्रकार गार्गी परसाई पर्यावरण, कृषि, पानी जैसे मुद्दों पर पिछले तीस वर्षों से सजग लेखन कर रही हैं। वैश्विक मौसम में आने वाले बदलाव को लेकर गार्गी ने काफी कुछ काम किया है। पुरस्कार समारोह के दौरान ही प्रेम भाटिया मेमोरियल लेक्चर का भी आयोजन किया गया। इसमें मुख्य वक्ता के रूप में पाकिस्तान की विदेश मामलों की विशेषज्ञ आयेशा सिद्दीक ने दक्षिण एशिया के देशों की वर्तमान स्थिति और भविष्य की चुनौतियों पर काफी कुछ कहा। आयेशा के लेक्चर का विषय था 'द लोस्ट कांटीनेंट'।


एक अन्य सूचना के अनुसार अमर उजाला मेरठ के न्यूज एडिटर रघु आदित्य का विद्यार्थी विकास मंच की ओर से सम्मान किया गया। मेरठ प्रेस क्लब में आयोजित इस समारोह में पूर्व राजनयिक और पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के सलाहकार रहे डॉ. गोपालकृष्ण शर्मा ने आदित्य को शॉल, श्रीफल और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।

 


AddThis