राजदीप, अभिलाष और वानखेड़े सम्मानित

E-mail Print PDF

कार्यक्रम को संबोधित करते राजदीपसीएनएन आईबीएन न्यूज चैनल के मुख्य संपादक राजदीप सरदेसाई को बृहन महाराष्ट्र मंडल उर्फ बीएमएम (महाराष्ट्र के बाहर रहने वाले मराठियों की संस्था) ने सम्मानित किया.

बीएमएस की ओर से कार्यक्रम दिल्ली के पास छत्तरपुर में आयोजित किया गया. इस कार्यक्रम में केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री विलासराव देशमुख भी पहुंचे. देशमुख ने ही अपने हाथों से राजदीप का सन्मान किया. इस कार्यक्रम में राजदीप का भाषण भी हुआ. चूंकि राजदीप गोवा मूल के हैं, लेकिन उनका बचपन मुंबई में गुजरा है, इस वजह से मराठी लोग उन्हें मराठी ही मानते हैं. राजदीप भी ऐसे समारोहों मे समय निकालकर शिरकत करते हैं.

अभिलाष खांडेकर और राजदीप सरदेसाई का सम्मान

इस मौके पर वरिष्ठ टीवी पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने कहा, 'दिल्ली में मराठियों की आवाज चाहिए. यहां आवाज उतनी बुलंद नही है. मराठी लोग कट्टरवादी होते हैं, ऐसा उत्तर भारतीयों में भ्रम फैला हुआ है. लोगों का मानना है कि मराठी लोग केवल महाराष्ट्र तक ही सीमित हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. महाराष्ट्र के बाहर डेढ़ करोड़ मराठी लोग रहते हैं. इसलिए उत्तर भारतीयों का भ्रम दूर करें.'

अधिवेशन में दैनिक भास्कर के मध्य प्रदेश स्टेट एडिटर अभिलाष खांडेकर को भी सन्मानित किया गया. उनका भी भाषण हुआ. अभिलाष खांडेकर ने कहा कि हम मराठी हैं इसलिए कमजोर ना समझें. मराठी होते हुए भी हिंदी प्रदेश से चुनकर आने वाली इंदौर की सांसद सुमित्रा महाजन इसकी मिसाल हैं. दिल्ली मराठी पत्रकार संघ के अध्यक्ष अशोक वानखेडे का भी इस समय अधिवेशन में सम्मान किया गया.


AddThis