डबल खुशी : गीताश्री को एवार्ड और प्रमोशन

E-mail Print PDF

गीताश्रीआमतौर पर एवार्ड और फेलोशिप के लिए खबरों में रहने वाले गीताश्री इस बार भी एवार्ड के लिए खबर में हैं लेकिन खास यह कि उन्हें प्रमोशन भी मिला है. अभी तक आउटलुक हिंदी में फीचर एडिटर के पद पर गीताश्री काम देख रहीं थीं. अब वे असिस्टेंट एडिटर बना दी गई हैं. हिंदी आउटलुक से गीताश्री शुरुआती दिनों से ही जुड़ी हुई हैं. यहां रहते हुए उनका यह दूसरा प्रमोशन है.

उधर, पिछले दिनों दिल्ली के फिक्की आडिटोरियम में आयोजित एक भव्य समारोह में गीताश्री को बेस्ट इन्वेस्टिगेटिव फीचर के लिए यूएनएफपीए-लाडली मीडिया अवार्ड से सम्मानित किया गया. इससे पहले इसी कैटगरी में उन्हें रीजनल अवार्ड दिया गया था. रीजनल अवार्ड के लिए देशभर से महिला पत्रकारों का चयन किया गया था।

पुरस्कृत होने वाली अन्य महिला पत्रकारो में प्रमुख नाम हैं रत्ना भारती तालुकेदार (वीमेन फीचर सर्विस, असम), वैदेही रंगनाथन, प्रगति बाखले, पारिजात बंधोपाध्याय, ऋचा अनिरुद्ध, शरत कुमार, अर्चना शर्मा, अनन्या चक्रवर्ती, रेणुका नय्यर इत्यादि। यूएनएफपीए-लाडली लाइफटाइम एचीवमेंट अवार्ड से विज्ञापन जगत की जानी मानी हस्ती तारा सिन्हा को नवाजा गया।

ला़डली के नेशनल ज्यूरी मेम्बर में देश की कई जानी मानी हस्तियां थीं। इनमें कुछ प्रमुख नाम हैं- नफीसा अली, राहुल बोस, जतिन दास, इंदिरा जयसिंह, जया जेटली, सइदा हमीद, सादिया देहलवी, पामेला फिलिपोस, विश्वनाथ सचदेव, राहुल सिंह, विनोद नागपाल, कविता नागपाल, लूशिन दूबे इत्यादि।

गीताश्री को यह अवार्ड आदिवासी लड़कियों की ट्रैफिकिंग पर लगातार काम करने और तस्करों के गिरोह का पर्दाफाश करने वाली स्टोरी करने के लिए दिया गया है। उनकी एक स्टोरी मध्य प्रदेश के आदिवासी इलाके में लड़कियों की तस्करी के जाल का खुलासा करती है जिसे विशेषतौर पर पुरस्कार के लिए चुना गया और समारोह में इसकी क्लिंपिंग भी दिखाई गई। समारोह में दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य मंत्री किरण वालिया समेत अनेक जानी मानी हस्तिया मौजूद थीं।

गीताश्री की एवार्ड प्राप्त रिपोर्ट पढ़ने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं- रिपोर्ट पेज वन और रिपोर्ट पेज टू


AddThis