राज्‍यपाल ने दिया संजय को वांगमय पुरस्‍कार

E-mail Print PDF

पुरस्‍कारमध्यप्रदेश के राज्यपाल रामेश्वर ठाकुर ने युवा पत्रकार एवं लेखक संजय द्विवेदी को वांगमय पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया. भोपाल स्थित हिंदी भवन के सभागार में आयोजित समारोह में संजय को यह पुरस्‍कार उनकी नई किताब ‘मीडियाः नया दौर- नई चुनौतियां’ के लिए दिया गया. स्व. हजारीलाल जैन की स्मृति में प्रतिवर्ष यह पुरस्‍कार किसी गैर-साहित्यिक विधा पर लिखी गयी किताब पर दिया जाता है.

संजय द्विवेदी की इस किताब में मीडिया के विविध संदर्भों पर लिखे गए उनके लेख संकलित हैं. यह किताब यश पब्लिकेशन, दिल्ली द्वारा प्रकाशित की गई है. सम्मान समारोह में वितरित पुस्तिका में कहा गया है कि- “वर्ष 2010 में प्रकाशित इस कृति में लेखक के आत्मकथ्य सहित 27 लेख हैं। इन लेखों में प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया की दशा व दिशा का आज के बाजारवाद के परिप्रेक्ष्य में विशद् तार्किक विवेचन किया गया है. पुस्तक के लेखक संजय द्विवेदी स्वयं पत्रकारिता को जी रहे हैं, इसलिए पुस्तक के लेखों में विषय की गहराई, सूक्ष्मता और अनुभवपरकता तीनों मौजूद है. पुस्तक मीडिया से जुड़े कई अनदेखे पृष्ठ खोलने में सफल है.”

मध्य प्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति द्वारा आयोजित सम्मान समारोह की अध्यक्षता प्रदेश के नगरीय विकास मंत्री बाबूलाल गौर ने की. कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि सांसद रघुनंदन शर्मा थे. कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वागत भाषण समिति के अध्यक्ष रमेश दवे ने किया और आभार प्रदर्शन कैलाश चंद्र पंत ने किया. गौरतलब है कि संजय अनेक प्रमुख समाचार पत्रों के अलावा इलेक्ट्रानिक और वेब मीडिया में भी महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके हैं. उनकी अब तक आठ पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं और छह पुरस्कार भी मिल चुके हैं. संप्रति वे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में जनसंचार विभाग के अध्यक्ष हैं.


AddThis