पूजा, सुमित, आलोक व दीपाली को सम्मान

E-mail Print PDF

साहित्यकार राजेंद्र यादव (मध्य में) का संबोधनइंटरनेट के जरिये हिंदी के प्रचार प्रसार एवं आम लोगों को इंटरनेट से जोड़ने के उद्देश्य से शुरू ‘हिन्द युग्म’ का वार्षिकोत्सव 28 दिसंबर को मनाया गया। हिंदी भवन स्थित धर्मवीर संगोष्ठी कक्ष में दोपहर को इसका आयोजन हुआ। इस मौके पूजा अनिल, सुमित भारद्वाज, आलोक सिंह ‘साहिल’ एवं दीपाली मिश्रा को ‘हिन्द युग्म’ सम्मान दिया गया। समारोह के मुख्य अतिथि ‘हंस’ पत्रिका के संपादक राजेंद्र यादव थे। समारोह की शुरुआत में नए कवियों ने काव्य पाठ से लोगों को मुग्ध कर दिया।

समारोह में मौजूद लोगहिन्द युग्म के नियंत्रक एवं संपादक शैलेश भारतवासी ने प्रेजेंटेशन दिया। इसमें उन्होंने हिंदी टाइपिंग एवं ब्लाग बनाने के आसान तरीके के बारे में बताया। मुख्य अतिथि ‘हंस’ पत्रिका के संपादक राजेंद्र यादव ने कहा कि इस कार्यक्रम ने उनके लिए इंटरनेट की नई दुनिया खोल दी है। साहित्य की चर्चा पर उन्होंने कहा कि खड़ी बोली के पहले के साहित्य को आलमारियों में बंद कर देना चाहिए। समाज और संसाधनों की आधुनिकता के बीच हमें अपने विचारों में भी आधुनिकता लानी होगी। इसके लिए आधुनिक दृष्टि की जरूरत है।

अन्य अतिथियों में ‘विश्व विवेक’ पत्रिका के पूर्व संपादक और ख्यातिप्राप्त गणितज्ञ प्रो. भूदेव शर्मा, कंपार्ट के सदस्य डा. सुरेश कुमार सिंह, मीडिया शिक्षक प्रदीप शर्मा, युवा कथाकार अभिषेक कश्यप, स्त्रीवादी लेखिका अनामिका मौजूद थी। मीडियाकर्मियों में वरिष्ठ पत्रकार नाजिम नकवी, एआईआर के मुबीन खान, महुआ के निखिल आनंद गिरि, इंडिया न्यूज के अभिषेक पाटनी मौजूद थे। संचालन हरियाणा के वरिष्ठ साहित्यकार डा. श्याम सखा श्याम ने किया।

हिंद युग्म के नियंत्रक व संपादक शैलेश भारतवासी से संपर्क This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it के जरिए किया जा सकता है।


AddThis