ईटीवी के रिपोर्टर अलीम शेख समेत कई होंगे सम्‍मानित

E-mail Print PDF

: नेताजी को अब श्रद्धांजलि नहीं देगी भारत भारती : नेता जी सुभाष चन्द्र बोस जयंती के मौके पर हर साल लीक से कुछ अलग हट कर काम करने वाली सुल्तानपुर की एक प्रतिष्ठित संस्था भारत भारती पिछले 30 वर्षों से समाज में नैतिकता और निष्ठा से काम करने वालों के साथ साथ विधा विशेष में उल्लेखनीय योगदान करने वालों को सम्मानित करती है.

अब तक पूर्व प्रधानमंत्री गुलजारी लाल नंदा, अटलबिहारी वाजपेयी, मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी, राहुल गाँधी, साहित्यकार त्रिलोचन शास्त्री, टीवी लेखक मालिक नोमान और स्वाधीनता संग्राम के हीरो तात्या टोपे के परिजनों जैसे कई दिग्गजों को सम्मानित कर चुकी यह संस्था इस बार 23 जनवरी को मशहूर शायर ताबिश सुल्तानपुरी, वयोवृद्ध नारदजी राम कृष्ण जायसवाल, ईटीवी रिपोर्टर अलीम शेख, उन्नतशील कृषक राम कीरत समेत कई दिग्गजों को सम्मानित करने जा रही है. खास बात यह की इन सब कामों के लिए संस्था न किसी से कोई चंदा लेती है और न ही सरकारी अनुदान.

संस्था इस बार एक अनोखा अभियान भी चला रही है. संस्था ने नेता जी को इस बार श्रद्धांजलि न देने का फैसला करते हुए उन्हें अश्वथामा, राजा बलि, वेद व्यास, परशुराम, हनुमान और कृपाचार्य जैसे चिरंजीवियों की तरह उनके चिरंजीवी होने की घोषणा करने जा रही है. इसके लिए नगर में बाकायदा जगह-जगह होर्डिंग लगाई गई है. समाज में नैतिक मूल्यों के क्षरण को रोकने, नैतिकता के संरक्षकों को प्रोत्साहित करने और नैतिक मूल्यों का आदर्श प्रस्तुत करने वाले एक आम इन्सान से लेकर अति खास तक को सम्मानित करने के मकसद से कवयित्री महादेवी वर्मा, क्रांतिकारी जयदेव कपूर की सलाह पर साल 1981 को भारत भारती की नीवं डाली गई.

उसी साल विभिन्‍न हल्‍कों में अच्‍छे काम करने वालों को लोकमणि, लोक रत्‍न, लोक भूषण और दोक दीप नामक पुरस्‍कार देने का फैसला किया गया. इसके अलावा हर पांचवें साल नेताजी सुभाष चंद्र बोस अवार्ड की घोषणा हुई. इन पुरस्‍कारों में नगद धनराशि, प्रतीक चिन्‍ह और प्रशस्ति पत्र दिए जाते हैं.  संस्था के अध्‍यक्ष सुंदरलाल टंडन, मंत्री आफताब और संरक्षक वरिष्‍ठ साहित्‍यकार कमल नयन पाण्‍डेय पूरे आयोज को लेकर काफी उत्‍साहित हैं.


AddThis