नई किताब की पहली प्रति राष्ट्रपति को सप्रेम भेंट

E-mail Print PDF

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के साथ आलोक मेहतादिल्ली में जल्द लांच होने वाले अखबार नई दुनिया के प्रधान संपादक और एडीटर्स गिल्ड के अध्यक्ष आलोक मेहता ने एक किताब लिखी है 'नामी चेहरों से यादगार मुलाकातें'। किताब में इंदिरा, राजीव, अटल, शंकर दयाल शर्मा, आर. वेंकटरमण और प्रतिभा पाटिल, रविशंकर, शुभा मुदगल, जावेद अख्तर  समेत सभी क्षेत्रों की जानी मानी हस्तियों से लिए गए साक्षात्कार शामिल किए गए हैं। इस किताब की पहली प्रति राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को भेंट करने के लिए आलोक मेहता मीडिया के कई दिग्गजों के साथ राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

उनके साथ प्रसिद्ध साहित्यकार और पत्रकार कन्हैया लाल नंदन, जी न्यूज के डायरेक्टर लक्ष्मी गोयल, नवभारत टाइम्स के कार्यकारी संपादक मधुसूदन आनंद, कादंबिनी के कार्यकारी संपादक विष्णु नागर, एडीटर्स गिल्ड के महासचिव और अंग्रेजी पत्रिका द वीक के संपादक सच्चिदानंद मूर्ति, द ट्रिब्यून के इंवेस्टिगेटिव एडीटर मनमोहन समेत कई लोग थे।

आलोक मेहता ने अपने पत्रकारीय करियर की वर्ष 1972 से शुरुआत के समय से लेकर आज के समय तक  में जितने भी इंटरव्यू किए हैं, उसमें से चुनिंदा 47 इंटरव्यू इस 448 पन्नों वाली किताब में शामिल किए गए हैं। इस किताब में साक्षात्कारकर्ता आलोक मेहता ने सभी हस्तियों के बारे में अपनी निजी राय व विचार भी व्यक्त किए हैं।

आलोक मेहता ने प्रतिभा पाटिल को कुछ अरसा पहले प्रकाशित अपनी अन्य पुस्तकें भी भेंट की। इन किताबों के नाम हैं- 'सफर सुहाना दुनिया का, पत्रकारिता की लक्ष्मण रेखा, चिड़िया फिर नहीं चहंकी, सिंहासन का न्याय। 

नई किताब की पहली प्रति भेंट करने को आयोजित समारोह के दौरान राष्ट्रपति समेत सभी वरिष्ठ साहित्यकारों, पत्रकारों ने अपने विचार मीडिया, समाज और लोकतंत्र के परिप्रेक्ष्य में वयक्त किए।


AddThis