वीएन राय के विवादित इंटरव्यू को पूरा पढ़ें, यहां

E-mail Print PDF

‘नया ज्ञानोदय’ पत्रिका के उस पेज का लिंक हम यहां दे रहे हैं, जिसमें वीएन राय ने एक सवाल के जवाब में हिंदी लेखिकाओं को 'छिनाल' कहा. इंटरव्यू में एक जगह वीएन राय ने कहा है- ‘लेखिकाओं में यह साबित करने की होड़ लगी है कि उनसे बड़ी छिनाल कोई नहीं है...यह विमर्श बेवफाई के विराट उत्सव की तरह है।’ एक लेखिका की आत्मकथा,जिसे कई पुरस्कार मिल चुके हैं,का अपमानजनक संदर्भ देते हुए राय कहते हैं,‘मुझे लगता है इधर प्रकाशित एक बहु प्रचारित-प्रसारित लेखिका की आत्मकथात्मक पुस्तक का शीर्षक हो सकता था ‘कितने बिस्तरों में कितनी बार’।’

इंटरव्यू के इस विवादित अंश को पेज पर अंडरलाइन कर दिया गया है. कई लोग यह कहने लगे हैं कि बिना पूरा इंटरव्यू पढ़े, इस मसले पर रिएक्ट करना गलत है. पूरा इंटरव्यू पढ़कर भी वीएन राय अपराध से मुक्त नहीं माने जा सकते क्योंकि उनका कथन न सिर्फ महिला विरोधी है बल्कि अपना वजूद बनाए रखने और आगे बढ़ने के लिए संघर्ष कर रहीं स्त्रियों की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला है. पूरा इंटरव्यू पढ़ने के लिए क्लिक करें- नया ज्ञानोदय में वीएन राय का इंटरव्यू


AddThis