राजेंद्र यादव क्या 'बजा' रहे हैं?

E-mail Print PDF

विख्यात साहित्यकार राजेंद्र यादव के जन्मदिन पर ली गई एक तस्वीर. ढोल उर्फ ढोलक पर स्त्री शब्द लिखा होना और इसे राजेंद्र यादव का बजाना कई अर्थों में विवाद को जन्म देने वाला है. लेकिन जमाना ऐसा है कि ''जो है नाम वाला वही बदनाम है''. राजेंद्र यादव की इस हरकत पर क्या कहा जाए!


AddThis