डॉ. हेमंत जोशी की 12 पुस्तकों का विमोचन

E-mail Print PDF

चिकित्सा अभ्यास के 25 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्‍य में सुप्रसिद्ध बाल चिकित्सक डॉ. हेमंत जोशी ने एक साथ 12 पुस्तकों का प्रकाशन किया है। कुल पाँच भाषाओं-मराठी, हिंदी, अंग्रेजी, उर्दू एवं गुजराती में लिखी गई इन पुस्तकों का विमोचन रविवार को विरार (पश्चिम) स्थित विवा कॉलेज में 12 पत्रकारों के हाथों से संपन्न हुआ। ये सभी पुस्तकें बाल चिकित्सा, देखभाल तथा उनके विकास पर आधारित है। संभवतः यह पहला अवसर है जब किसी बाल चिकित्सक की लिखी गई 12 पुस्तकों का एक साथ प्रकाशन हुआ है।

"छह महीना स्तनपान छुट्टी" की कल्पना के जनक माने जाने वाले डॉ. हेमंत जोशी ने 1985 में दिवाली के अवसर पर अपना चिकित्सा अभ्यास प्रारंभ किया था। इन 25 वर्षों के दौरान डॉ. हेमंत जोशी तथा उनकी पत्नी डॉ. अर्चना जोशी ने बाल चिकित्सा के दौरान प्राप्त विभिन्न प्रकार के अनुभवों को पुस्तक के रूप में प्रकाशित कर चिकित्सा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इन पुस्तकों में बच्चों के जन्म से लेकर उनके बड़े होने तक की विभिन्न समस्याओं, बीमारियों, शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक विकास, आदि का समाधान काफी सरल तरीके से सुझाया गया है।

विमोचन

साहित्य प्रेमी डॉ. हेमंत जोशी ने अपनी इन बहुपयोगी स्वास्थ्य पुस्तकों का विमोचन ई-टीवी (मराठी) के समाचार समन्वयक राजेंद्र साठे, दैनिक सामना के पत्रकार उमाकांत वाघ, पत्रकारिता कोश के संपादक आफताब आलम, शशि कर्पे, दीपक मोहिते, सुधीर भोईर, अभिजीत मुले, प्रभाकर कुडालकर, डॉ. राजेंद्र आगरकर, प्रवीण नलावडे ने किया।

इस अवसर पर पुणे के सुप्रसिद्ध बाल चिकित्सक डॉ. प्रमोद जोग व बारामती के डॉ. अनिल मोकाशी को आरोग्य ज्ञानेश्वरी पुरस्कार प्रदान किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता युवा नेता हार्दिक राऊत ने की। बाल चिकित्सा से संबंधित विभिन्न प्रकार की समस्याओं और उनके निदान के लिए डॉ. हेमंत जोशी के बहुभाषी वेबसाइट http://doctorhemantjoshi.com पर संपर्क किया जा सकता है।


AddThis