संपादक का टेरर जारी, ब्यूरो चीफ को दौड़ाया

E-mail Print PDF

यशवंत जी, इन दिनों अमर उजाला लखनऊ में संपादक का टेरर फिर चरम पर है. आज ही संपादक ने अपने से उम्र और तजुर्बे में बड़े ब्यूरो चीफ महोदय को स्टाफ के सामने खुलेआम बेईज्ज़त किया. यहाँ तक कि गलियां भी दीं. अमर उजाला उजाला के संथापक सदस्य व रीड की हड्डी की तरह पहचान रखने वाले ब्यूरो चीफ जी की बेईज्ज़ती से पूरा स्टाफ अपने सम्मान को लेकर पशोपेश में है.

लेकिन नौकरी की मजबूरी ने सबको शांत कर रखा है. और भी ऐसी तमाम घटनाएँ हैं. आप अपने भड़ास के माध्यम से इस पागल संपादक की करतूतों को उजागर करें.

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित


AddThis