जागरण, जमशेदपुर से एक विकेट गिरना तय, राजनीति तेज हुई

E-mail Print PDF

दैनिक जागरण,  जमशेदपुर से एक सीनियर रिपोर्टर का जाना तय है. यह रिपोर्टर दैनिक भास्कर, रांची जा सकते हैं. इनका रिज्‍यूम भास्‍कर में पहुँच चूका है. बात भी पक्की हो गई है. कुछ लोगों से पुराना तथा करीबी रिश्ता होने की वजह से इस रिपोर्टर की इंट्री एक पद आगे के लिए हो रही है. फिलहाल इस रिपोर्टर ने पारिवारिक कारणों के चलते ज्वाइन करने के लिए अक्टूबर तक का समय माँगा है,  इस पर सहमति भी बन गई है.

इस सीनियर रिपोर्टर ने लगभग एक साल पहले जमशेदपुर में दैनिक जागरण ज्वाइन किया था. संपादक के करीबी होने के कारण दूसरा गुट इन्‍हें शुरू से ही नापसंद करता था,  जिस कारण लगातार राजनीति हो रही थी. इसके साथ ही जमशेदपुर में संपादक और एक दूसरे अधिकारी के बीच भीतर ही भीतर चलने वाली खींचतान का नतीजा अब खुल कर सामने आने लगा है. ऑफिस में भीतर ही भीतर चलने वाली राजनीति भी बढ़ रही है.

बताया जा रहा है ऐसा संपादक के दूसरे गुट के मुखिया (दाढ़ी वाले) के करीबी रिपोर्टर की मेडिकल बीट बदलने से हुआ है. खबर है कि मेडिकल रिपोर्टर बिना संपादक से बताये ऑफिस से गायब हो गया था. जिसे दूसरे गुट के मुखिया (दाढ़ी वाले) ने बचाने की कोशिश भी की थी. माना जा रहा है कि कार्यालय के कुछ और लोग भी इस राजनीति से उबकर भास्कर या दूसरे अखबारों की और रुख करने का मन बना रहे हैं.

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis