आजतक से सीईओ जी कृष्‍णन का इस्‍तीफा!

E-mail Print PDF

टीआरपी में पिछले कई सप्‍ताह से नम्‍बर दो पर रहे आजतक में लगाम कसने की शुरुआत हो चुकी है. खबर है कि आजतक में बिजनेस देख रहे एक्‍जीक्‍यूटिव डाइरेक्‍टर एवं सीईओ जी कृष्‍णन ने इस्‍तीफा दे दिया है. कृष्‍णन के इस्‍तीफे को शुरुआत माना जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से टीआरपी की वजह से बिजनेस कमजोर हुआ है, उसके चलते संपादकीय के लोगों पर भी गाज गिराई जाएगी.

एक समय न्‍यूज चैनलों में बेताज बादशाह रहा आजतक अब दूसरे नम्‍बर पर फडफड़ा रहा है. पिछले कई सप्‍ताह से इंडिया टीवी लगातार एक नम्‍बर पर बना हुआ है. दूसरे नम्‍बर पर पहुंच जाने के चलते आजतक का बिजनेस भी प्रभावित हुआ है. काफी समय से कयास लगाया जा रहा था कि प्रबंधन अब नकेल कसेगा. हालांकि इससे पहले संपादकीय में कुछ वरिष्‍ठों की जिम्‍मेदारियों में फेरबदल भी किया गया था. इसके बावजूद टीआरपी पर कोई असर नहीं पड़ा.

टीआरपी की शुरुआत से लेकर अब तक यह पहला मौका है जब आजतक सात हफ्ते से ज्‍यादा समय तक टीआरपी में दूसरे नम्‍बर पर रहा हो. इंडिया टीवी पिछले आठ-नौ सप्‍ताह से लगातार एक नम्‍बर पर काबिज है, जिसकी वजह से आजतक का बिजनेस कमजोर हुआ है. इसकी वजह से ही मैनेजमेंट ने मार्केटिंग और एडिटोरियल डिपार्टमेंट में लगाम कसने की तैयारी शुरू कर दी है. माना जा रहा है इसी कसाहट के पहले शिकार जी कृष्‍णन बने हैं.

अब माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में एडिटोरियल का लगाम कसा जाएगा. इसमें जिम्‍मेदारी बदलने से लेकर विकेट गिराए जाने की बातें भी सामने आ रही हैं. हालांकि जी कृष्‍णन के इस्‍तीफा देने की बात की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. पर आजतक के वरिष्‍ठ सूत्रों का कहना है कि जी कृष्‍णन ने अपना इस्‍तीफा प्रबंधन को सौंप दिया है. हालांकि इस संदर्भ में जी कृष्‍णन से कोशिश करने के बाद भी बात नहीं हो पाई, जिसके चलते पूरे सच की जानकारी नहीं मिल पाई.


AddThis