ईटीवी में राजेश तोमर एवं भुवन किशोर के बीच शीतयुद्ध, दूसरे कर्मचारी तनाव में

E-mail Print PDF

ऐसा लग रहा है कि ईटीवी, झारखण्ड में स्टेट हेड राजेश तोमर से ईटीवी प्रबंधन खुश नहीं है. इसलिए जयपुर अब नए इन्चार्ज के रूप में रांची के रिपोर्टर भुवन किशोर झा को आगे कर रहा है. राजेश तोमर को महत्वपूर्ण माने जाने वाले कंट्रोलरूम से हटा दिया गया है और इसकी जिम्मेदारी भुवन किशोर झा को दे दी गई है. ईटीवी के अंदरखाने से ये भी खबर है कि भुवन किशोर झा सीधे चैनल हेड जगदीश चन्द्र के संपर्क में हैं और किसी भी वक़्त ईटीवी झारखण्ड के पूर्व हेड अमन कुमार की तरह झारखण्ड की जिम्मेदारी सम्‍भाल सकते हैं.

भुवन किशोर झा के बारे में कहा जा रहा है कि बिहार में स्ट्रिंगर से पदोन्नति पाकर संवाददाता बनते ही उनका ग्राफ तेजी से बढ़ा है और वह जयपुर टीम के भरोसेमंद खिलाड़ी बन गए हैं,  जो राजेश तोमर के पत्ता साफ़ करने के लिए काफी है. खबर तो ये भी है कि ईटीवी की हर एक बात- सीओबी से लेकर चपरासी तक की पल-पल की खबर भुवन जयपुर में आलाकमान को देते हैं.

भुवन किशोर के बढ़ते कद से जहाँ हैदराबाद डेस्क परेशान है वहीं रांची ऑफिस में भी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. सीओबी ने तो अपनी नौकरी बचाने के लिए अभी से ही भुवन किशोर की खुशामद करना शुरू कर दिया है. सबसे ख़राब हाल तो ईटीवी के शुरुआती टीम के मेम्बर रहे वरिष्‍ठ संवादाता राजेश कुमार की है, जो समझ नहीं पा रहे हैं कि वो भुवन और राजेश तोमर में किसे खुश करें. यही हाल नरेन्द्र और मनोज का भी है, वहीं भुवन के साथ प्रमोशन पाने वाले उपेन्द्र यादव भी परेशान हैं, अपनी बराबरी के रिपोर्टर भुवन को जवाब देते हुए उपेन्‍द्र शर्म महसूस करता है. कंट्रोलरूम में काम करने वाले स्टाफ को भी भुवन रोज जलील करता है. कई ने तो नई नौकरी की तलाश भी शुरू कर दी है. उनका कहना है कि छह हजार की नौकरी में कितने बॉस होंगे, जिनकी गलियां हम दिन रात सुनें.

इससे पहले भी रांची ऑफिस में स्ट्रिंगर विक्रम सिंह परेशान होकर अपने ऊपर पेट्रोल उड़ेल लिया था और राजेश तोमर ने नौकरी की धमकी देकर सबका मुह बंद करा दिया था. काफी रोकने के बाद भी बात ऊपर तक यानी आरएफसी और पटना तक पहुंच गई थी, जिस में भुवन ने सक्रिय भूमिका निभाकर तोमर की जान बचाई थी, जिसका कर्ज तोमर अब तक चुका रहे थे,  लेकिन अब उसी भुवन की नजर राजेश तोमर की सीओबी की कुर्सी पर है, जिसके लिए भुवन एक बार छुट्टी लेकर दिल्ली और जयपुर का दौरा भी कर चुके हैं. इस खुलासे ने तोमर की नींद छीन रखी है.

झारखण्ड के सभी स्ट्रिंगर, इन्फार्मर के साथ-साथ अभिषेक धनबाद रिपोर्टर, अन्नी अमृता जमशेदपुर रिपोर्टर का तनाव भी रोज़ सुबह ताज़ा पट्टी के लिए पड़ने वाली गाली से बढ़ रहा है.  अन्नी तो कई बार इस घटना से अपसेट होकर ऑफिस आना ही छोड़ दिया है. भुवन किशोर के बढ़ते कद से परेशान तोमर ने ऑफिस बॉय से लेकर रिपोर्टर तक को टॉर्चर करना शुरू कर दिया है क्योंकि सांप को दूध पिलाना उन्हें अब महंगा साबित हो रहा है.

नीचे रांची आफिस के हाल को लेकर ईटीवी के वरिष्‍ठों को भेजा गया मेल.


 

Respected sir,

we are  a few staff sending this secret mail to inform u regarding the atmosphere of etv office in ranchi.we are victim of the office incharge mr. rajesh tomer. tomar has become dictator in this office. we want to inform u about some incident took place in office.we are very fearful giving u this information. sir, mr. tomar behaves like channel head. most of the staffs are victim of his atrocities.

sir, on 03-05-11,an incident took place in ranchi office. that was serious and peculiar. mr. tomar pressurised a news contributor mr. vikram singh to go to apollo to cover a story. he expressed some problem in going to apollo.but,mr. tomar threatened him to do so.as a result, vikram singh attempted to commit suicide and put on gallon of kerosene oil and poured down half gallon .he ran to kitchen to take match box. there were many staff of every department.we tried to catch mr. vikram. ultimately, we overcame him and he was saved at last. there was unusual scene.mr. tomar was stunned.then he started to manage this incident. later, he threatened all the available staff not to leak this news to anyone.

Sir, since then ,he has been enjoiying thinking so that this news has been suppressed.if vikram singh cuoil have committed suicide in office ,we were sent to jail and the office of etv might be closed. there is such serious situation in ranchi.this news was sent to many of patna office over telephone.due to his action, no one came in front. But, situation is continuing in this office. please inquire in to the matter.

Sir, he has been doing some illegal work. he orders cameramen to record his self anchored programme’ kuchh batein, kucch khas aapke saath’. he supplies CDs of this programme to the celebrity of the programme. Sir, mr. rajesh tomer has developed the culture of getting transfer news items everyday.

एक पत्रकार द्वारा भेजा गया मेल.


AddThis