मीनाक्षी मैडम की जय-जय

E-mail Print PDF

आजकल दैनिक जागरण वाली मीनाक्षी मैडम की जय जय है. पहले पन्ने पर उनकी तीन-तीन बाइलाइन छप रही है. ऐसे भाग्यशाली पत्रकार कितने हैं जो पहले पन्ने पर एक ही दिन में तीन तीन बाइलाइन पा जाएं. पर जब जिस पर खुदा मेहरबान होता है तो उसकी किस्मत ऐसी ही होती है. मीनाक्षी मैडम चंडीगढ़ में बैठती हैं और पूरे पंजाब हरियाणा पर राज करती हैं. काफी पुराने दिनों से दैनिक जागरण से इनका नाता है.

इनकी निष्ठा आदि को देखते हुए जागरण प्रबंधन ने इन्हें राष्ट्रपति के साथ विदेश दौरे पर भेज दिया. दूसरे, जब राष्ट्रपति महिला हों तो उनके साथ महिला रिपोर्टर को भेजना ज्यादा लाजिकल और उचित फैसला है. दैनिक जागरण, पंजाब में कार्यरत कर्मी मीनाक्षी को विदेश भेजे जाने के जागरण प्रबंधन के फैसले पर चर्चा नहीं कर रहे हैं. ये कर्मी आजकल दैनिक जागरण, पंजाब में पहले पन्ने पर मैडम की तीन तीन बाइलाइन छपने से दांतों तले उंगलियां या उंगलियां तले दांत, जो भी समझ लीजिए, दबा रहे हैं.

अभी तक चलन यह रहा है कि कोई रिपोर्टर विदेश से खबरें भेजता है तो उसकी सबसे प्रमुख खबर पर बाइलाइन देकर, अन्य खबरों के साथ उसके पद का जिक्र कर दिया जाता है. पर मीनाक्षी जी पर यह कृपा कई लोगों को पच नहीं रही है. हालांकि न्यूज चैनलों की रिपोर्टिंग को देखते हुए अखबार वाले अपने यहां अपने रिपोर्टरों को ज्यादा तवज्जो, एक्सपोजर, सम्मान दे रहे हैं तो इसे पाजिटिव सेंस में लेना चाहिए पर अखबार वालों की आदत ठहरी टांग खिंचाई की सो मौका मिलते ही शुरू हो जाते हैं. कुछ न सही तो यही सही कि मैडम को तीन-तीन बाइलाइन क्यों और बाकियों को एक भी बाइलाइन पाने के लिए क्यों नाक रगड़ना पड़े?


AddThis