झारखंड के ब्‍यूरो कार्यालयों से हटा दिए जाएंगे कम्‍प्‍यूटर ऑपरेटर

E-mail Print PDF

हिंदुस्‍तान प्रबंधन खर्च घटाने के नाम पर रोज-रोज नए फरमान जारी करता रहता है. नई खबर है कि झारखंड में अगले महीने से सभी ब्‍यूरो कार्यालयों से कंपोजिटरों को हटाने का आदेश दे दिया गया है. अमूमन हर अखबार के ब्‍यूरो कार्यालयों में रिपोर्टरों की खबरों को टाइप करने के लिए कंपोजिटर यानी कम्‍प्‍यूटर ऑपरेटर रखे जाते हैं, पर हिंदुस्‍तान अब इनको हटाकर अपना खर्च कम करने जा रहा है.

हिंदुस्‍तान के तहसील कार्यालयों पर काम करने वाले रिपोर्टरों को पहले ही लैपटॉप लेने का फरमान जारी कर दिया गया था, ताकि ब्‍यूरो कार्यालयों में फैक्‍स आदि का खर्च कम हो. 22 जिलों वाले झारखंड में ज्‍यादातर तहसीलों के प्रतिनिधियों ने प्रबंधन के आदेश के बाद पहले ही लैपटॉप खरीद लिया था या उधार-नगद करके अपना काम चला रहे थे. तहसील प्रतिनिधियों द्वारा टाइप किया मटेरियल भेजे जाने के चलते ब्‍यूरो कार्यालयों पर भी काम कम हो गया है. बताया जा रहा है कि अब ऑपरेटर का काम खुद प्रतिनिधियों को करना होगा. वे अपनी रिपोर्ट खुद टाइप करेंगे, जिन रिपोर्टरों को टाइप करने नहीं आता उन्‍हें जल्‍द से जल्‍द यह काम सीख लेने का निर्देश भी दे दिया गया है.

दूसरी तरफ, झारखंड में हिंदुस्‍तान का कई जिलों में प्रसार भी लगातार गिरता जा रहा है. खबर है कि कोडरमा, हजारीबाग, पलामू समेत कुछ अन्‍य जिलों में अखबार का प्रसार संख्‍या लगातार गिरता जा रहा है. इसने भी प्रबंधन को चिंता में डाल रखा है, जिससे खर्च कम करने के उपाय किए जा रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि मैनेजमेंट जल्‍द ही झारखंड में कुछ फेरबदल करने की योजना बना रहा है. जमशेदपुर यूनिट को लेकर कुछ ज्‍यादा ही चर्चाएं हैं. चर्चानुमा सूचना के अनुसार जमशेदपुर में बनारस से किसी वरिष्‍ठ के भेजे जाने की बात चल रही है. एक दो नामों पर कयास भी लगाया जा रहा है, पर किसे भेजा जाएगा अभी पुष्‍ट नहीं हो पा रहा है.


AddThis