''यूपी जर्नलिस्‍ट वेलफेयर के नाम पर कई पत्रकार लगा रहे सरकार को चूना''

E-mail Print PDF

उत्तर प्रदेश के कई पत्रकार मायावती सरकार से नकद सहायता ले रहे हैं। यह नकदी उप्र जर्नलिस्ट वेलफेयर सोसाइटी, जो पंजीकृत है, को राज्य सरकार से फंड के रूप में मिलता है। यह सोसाइटी एलआईसी के माध्यम से पेंशन फंड चलाती है, जिसमें प्रिमियम का आधा पैसा पत्रकार और आधा सोसाइटी देती है, यहां तक तो ठीक है।

इस सोसाइटी के प्रबंधकों ने खुद को और अपने खास कई सदस्यों को एक से ज्यादा पालिसी दे रखी है। यानी कुछ तो तीन-तीन पालिसी पर सरकार से आधा पैसा प्राप्त कर रहे हैं। कुछ ऐसे लोगों ने पालिसी करायी, जो रिटायरमेंट के बेहद करीब थे, जिसके कारण पेंशन प्लान में उन्हें ऊंचा प्रीमियम देना पड़ा, जिसका आधा सोसाइटी ने सरकारी धन से योगदान किया। कृपया इस बारे में विस्‍तृत समाचार प्रकाशित करें तो एक बड़े घपले का खुलासा होगा.

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis