बुलंदशहर में सीओ ने किया अमर उजाला के ब्‍यूरोचीफ से दुर्व्‍यवहार, पत्रकारों में रोष

E-mail Print PDF

बुलंदशहर में चल रहे नुमाइश की स्‍टार नाइट में सीओ और अमर उजाला के ब्‍यूरोचीफ के बीच विवाद हो गया. जिसके बाद इन दोनों लोगों के बीच हाथापाई भी हुई. पुलिस वालों ने ब्‍यूरोचीफ के साथ अभद्रता भी की. वहां जिले के कई आला अधिकारी भी मौजूद थे. इस मामले में सीओ के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. पर पत्रकार आनंदोलन के मूड में हैं.

बुलंदशहर में इन दिनों नुमाइश चल रहा है. एक महीने तक चलने वाले इस कार्यक्रम में 28 मार्च की रात को स्‍टार नाइट का आयोजन किया गया था. जिसमें गायक शब्‍बीर कुमार का कार्यक्रम था. कार्यक्रम में जिले के डीएम, एसपी, जिला जज समेत कई अफसर भी मौजूद थे. काफी लोग कार्यक्रम को देखने आए हुए थे.

कार्यक्रम चल रहा था तभी अमर उजाला के ब्‍यूरोचीफ विजय शंकर पांडेय फोटो लेने के लिए स्‍टेज की सीढि़यों पर पहुंच गए. वो फोटो ले ही रहे थे कि पुलिस वाले उन्‍हें मना करने लगे. उन्‍होंने अपना परिचय दिया तथा फिर फोटोग्राफी शुरू की. आयोजकों के निर्देश पर सीओ संसार सिंह का एक गनर उन्‍हें जबरदस्‍ती नीचे उतार दिया.

इससे नाराज विजय शंकर ने सीओ से अपनी आपत्ति जताई. इसको लेकर विवाद शुरू हो गया. बताया जा रहा है कि इस दौरान विवाद इतना बढ़ा कि हाथापाई की नौबत आ गई. इसी बीच सीओ संसार सिंह ने विजय शंकर से बदतमीजी की. उनके ऊपर हाथ उठा दिया. हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि विजय शंकर नशे में थे तथा उन्‍होंने सीओ को अपशब्‍द कहे.

कुछ पुलिसवालों ने भी विजय के साथ बदसलूकी की. उन्‍हें धक्‍का दिया गया. पुलिस कर्मियों ने उन्‍हें रवीन्‍द्र नाट्यशाला से बाहर कर दिया. इसकी खबर जब अन्‍य पत्रकारों को हुई तो वो नाराज हो गए. वे सीओ को तत्‍काल निलंबित करने की मांग करने लगे. शोर सुनकर डीएम-एसपी भी बाहर निकले. इस विवाद के बाद कार्यक्रम को बंद कर दिया गया. पत्रकार सीओ के निलंबन की मांग पर अड़ गए. एसपी ने समझाबुझाकर और जांच की बात कहकर मामले को सलटाया.

दूसरे दिन सुबह पत्रकारों का एक प्रति‍निधिमंडल एसपी से मिला तो उन्‍होंने कहा सीओ को क्‍लीनचिट दे दी. उन्‍होंने कहा कि ब्‍यूरोचीफ नशे में थे, जिसके चलते इतना विवाद हो गया. हालांकि उन्‍होंने इस घटना को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताते हुए अफसोस जताया. परन्‍तु इसके बावजूद पत्रकार नाराज थे. उनकी मांग थी कि सीओ संसार सिंह को सस्‍पेंड किया जाए.

इस संदर्भ में जब एसएसपी आरकेएस राठौर से बात की गई तो उन्‍होंने घटना को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया तथा कहा कि मामले को शार्ट आउट कर लिया गया है. उन्‍होंने कहा कि नशे के चलते विवाद हो गया था. मामला बहुत बड़ा नहीं था. अब सब सुलझा लिया गया है. इस संदर्भ में सीओ संसार सिंह को कॉल किया गया तो उन्‍होंने मोबाइल पिक नहीं किया, जबकि विजय शंकर का मोबाइल नॉट रिचेबल बताता रहा.


AddThis