फोटो जर्नलिस्‍ट प्रमोद पुष्‍कर्णा पर प्रेस क्‍लब में हमला

E-mail Print PDF

जाने माने सीनियर फोटो जर्नलिस्‍ट प्रमोद पुष्‍कर्णा को बीती रात कुछ पत्रकारों ने बुरी तरह पीटा. श्री पुष्‍कर्णा गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. उन्‍होंने मामले की शिकायत पुलिस से की परन्‍तु पुलिस ने उनका मामला दर्ज नहीं किया. इस संबंध में प्रमोद ने बताया कि वो कल देर शाम प्रेस क्‍लब में बैठे हुए थे. अपने कुछ साथियों के बातचीत कर रहे थे. अचानक प्रेस क्‍लब के कोषाध्‍यक्ष नदीम कादरी और उनके साथ के लोग उनपर टूट पड़े.

प्रमोद ने बताया कि वहां तमाम पत्रकार बैठे हुए थे. मुझे भद्दी-भद्दी गालियां दी गई. जिसे सुनकर वहां बैठी महिला पत्रकार बाहर निकल गईं. नदीम, जितेंद्र समेत दस से पन्‍द्रह लोगों ने बुरी तरह मारा-पीटा. मेरा कैमरा, घड़ी छीन लिया गया. चश्‍मा तोड़ दिया गया. किसी तरह बीच बचाव कर अन्‍य लोगों ने मुझे बचाया. यह पूछे जाने पर कि पीटे जाने का मामला क्‍या था तो उन्‍होंने बताया ये तो खुद मेरी समझ में नहीं आया.

उन्‍होंने कहा कि प्रेस क्‍लब का बुरा हाल हो गया है. क्‍लब गुंडों का अड्डा बन गया है. एकाउंटेंट बैलेंस शीट नहीं बनाता है, मुझसे मारपीट भी पुरानी रंजिश के चलते ही की गई. उन्‍होंने बताया कि जब वे अपनी शिकायत लेकर थाने पहुंचे तो पुलिस ने प्रेस क्‍लब के पत्रकारों के दबाव में मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया. गौरतलब है कि प्रमोद इ‍ंडिया टुडे ग्रुप के साथ भी लंबे समय तक जुड़े रहे हैं.

इस विवाद के संबंध में प्रेस क्‍लब के कोषाध्‍यक्ष नदीम काजमी का कहना था कि मुझे भी चोटें आई हैं. मेरे ऊपर भी हमला किया गया. मैं इलाज के बाद अपने घर पर लेटा हुआ हूं.


AddThis