कानपुर में दो मीडिया वालों ने एक महिला का जीना किया मुहाल

E-mail Print PDF

जैसे पुलिस वाले रक्षक की जगह आजकल भक्षक बन जा रहे हैं, उसी तरह मीडिया वाले किसी का दुख दूर करने की जगह उस पर दुखों का पहाड़ खड़ा कर दे रहे हैं. कानपुर के दो कथित पत्रकारों के बारे में ये शिकायत भड़ास4मीडिया के पास एक महिला अनुपम बाजपेयी ने मेल के जरिए भेजा है. उन्होंने फोन करके भी अपनी दुख भरी कहानी रोते हुए सुनाई. अनुपम बेहद डरी हुई और परेशान हैं. उनका पति धमकियों और दबावों के कारण कानपुर छोड़ चुके हैं. घर में अकेली इस महिला और उसकी बेटी का जीना मुहाल कर रखा है दो मीडिया वालों ने.

पूरी कहानी आप अनुपम की जुबानी सुनिए. नीचे दिए गए दो पत्रों में अनुपम के उत्पीड़न की पूरी दास्तान है जिसे उन्होंने खुद लिखवाकर भड़ास के पास भेजा है.


AddThis