सुनील दुबे की हालत में सुधार, नहीं होगी सर्जरी

E-mail Print PDF

वरिष्‍ठ पत्रकार एवं सन्‍मार्ग, पटना के संपादक सुनील दुबे की हालत अब खतरे से बाहर है. ब्रेन स्‍ट्रोक के बाद उन्‍हें पटना से दिल्‍ली लाया गया था. नेहरू नगर स्थित वीमंस हास्‍पीटल के डाक्‍टरों ने एंजियोग्राफी के बाद पाया है कि सर्जरी करने की जरूरत नहीं है. उन्‍हें आईसीयू से अस्‍पताल के जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है.

सुनील दुबे के इलाज करने वाले डाक्‍टर उनके ब्रेन में जमे खून के थक्‍के को दवाओं के सहारे हटाने की कोशिश में लगे हुए हैं. यह प्रक्रिया लगभग 15 दिनों तक चलाई जाएगी. डाक्‍टरों का कहना है कि अगर इसके बाद जरूरत पड़ी तो लेजर विधि से गामा सर्जरी की जाएगी तथा खून के रिसाव को रोका जाएगा. फिलहाल किसी बड़े सर्जरी की जरूरत नहीं है.

सुनील दुबे के छोटे भाई सुशील दुबे ने बताया कि उनकी हालत में सुधार है. अब वे चल-फिर और खा-पी भी रहे हैं. उल्‍लेखनीय है कि सुनील दुबे को 1 अप्रैल की देररात पटना में ब्रेन स्‍ट्रोक हुआ था. उन्‍हें पटना के मगध अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. चिकित्‍सकों ने उनका सिटी स्‍कैन कराने के बाद उन्‍हें बेहतर इलाज के लिए जल्‍द से जल्‍द दिल्‍ली ले जाने की सलाह दी थी. जिसके बाद उनके परिजन शनिवार को उन्‍हें एयर एंबुलेंस से पटना से दिल्‍ली लेकर आ गए थे.


AddThis