खबर छापने पर मुझे मिल रही है जान से मारने की धमकी

E-mail Print PDF

सेवा में, एडिटर महोदय, मैं किशोर कुमार सांध्‍य दैनिक आज की दास्तान का सह सम्पादक हूं। मैंने निष्पक्षता व ईमानदारी के साथ मेरठ में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहीम छेड़ रखी है। मैंने जब एमडीए में चल रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ खबरें लिखनी शुरू की तो उन खबर तो संज्ञान में लेते हुए कमिश्नर भुवनेश कुमार ने मेरठ विकास प्राधिकरण में हो रहे अवैध निर्माणों पर सील लगानी शुरू कर दी।

जिससे अवैध निर्माणकर्ताओं, भू-माफियाओं और दलालों में खलबली मच गई और मुझे फोन कर जान से मारने की धमकी दी जाने लगी। 14 अप्रैल 2011 को मैंने कैंट में हो अवैध निर्माण के खिलाफ खबर छापी तो अवैध निर्माणकर्ता ने एक बदमाश के जरिये मुझे फोन कर जान से मारने की धमकी दिलवा डाली। मेरे मोबाइल पर एक युवक का फोन आया जो मुझसे बोला मैं रजवन का शेट्टी बोल रहा हूं, अगर तुमने अब खबर छापी तो मैं तुम्हें जान से मार दूंगा। उसके बाद अवैध निर्माणकर्ता, सभासदों के करीबियों व पूर्व विधायक से फोन करवाकर मुझ पर खबर न छापने का दबाव बनाने लगा, उसके बावजूद मैंने निष्पक्षता पूर्वक खबर छापी। धमकी मिलने की शिकायत मैंने पुलिस को भी दे दी है।

किशोर कुमार

सह सम्पादक

दैनिक आज की दास्तान

मेरठ


AddThis