यूपी के एक थाने में रात भर नंगी कर पीटी गयी दलित महिला

E-mail Print PDF

: सीतापुर में हुए इस घटनाक्रम पर अफसरों ने साधी चुप्पी : भागे प्रेमी युगल को न खोज पाने से झुंझलायी थी पुलिस : जिला अस्पताल में भर्ती है पुलिस से पीडित महिला : निर्दोष महिलाओं पर यूपी पुलिस का मर्दानगी दिखाने का एक ताजा मामला सीतापुर में सामने आया है। एक लडके के साथ भागी लडकी के एक मामले में पुलिस जब उन दोनों का पता नहीं लगा सकी तो लडके की बुआ को ही पकडकर थाने ले आयी।

थाने पर इस महिला से जब पुलिस कुछ भी नहीं कुबूल करवा पायी तो भडास निकालने के लिए उसने इस महिला को पीटना शुरू कर दिया। इतने पर भी मन नहीं भरा तो उसे नंगा करके बुरी तरह पीट डाला। महिला की हालत बिगडने पर उसे पुलिस वाले भोर में दूर के एक गांव की सीमा पर फेंक कर भाग गये। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया और मुख्यमंत्री मायावती की सरकार में यूपी पुलिस का नंगा नाच एक बार फिर सामने आ गया। दलितों की हिमायत करने वाली इस सरकार के पुलिसिया कारिंदों ने सीतापुर में एक सफाईकर्मचारी महिला पर जुल्म ढाने की इंतिहा ही कर डाली। नंगा कर बेतरह पीटी गयी यह महिला अब सीतापुर के जिला अस्पताल में भर्ती है।

अंतिम सूचना मिलने तक इस महिला पर हुए हादसे पर कार्रवाई करने के लिए पुलिस या प्रशासन ने अब तक कोई भी कार्रवाई नहीं की है। उधर सीतापुर नगर पालिका के कर्मचारी संघ ने इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए सोमवार को आंदोलन की रणनीति बनाने का फैसला किया है। घटनाक्रम के अनुसार, सीतापुर के खैराबाद थाना क्षेत्र के बडई जलालपुर गांव में सफाईकर्मचारी समुदाय का एक किशोर सोनू अपनी ही जाति की एक लडकी से प्रेम करता था। लडकी के घरवाले इस संबंध पर कडा ऐतराज कर रहे थे। लडके और उसके घरवालों को इसके लिए पहले चेतावनी दी गयी और बाद में मारपीट तक हो गयी। प्रेम प्रसंग में मामला गंभीर और लगातार उलझता जा रहा देख कर गुरूवार की रात दोनों प्रेमी-प्रेमिका फरार हो गये। शुक्रवार की सुबह लडकी के घरवालों ने खैराबाद थाने पर शिकायती पत्र दिया। बहुत खोजने पर भी जब प्रेमी-प्रेमिका नहीं खोजे मिले तो पुलिस ने लडके की सीतापुर शहर में रहने वाली उसकी बुआ के घर दबिश दे दी। लडके की छोटी नाम की बुआ सीतापुर नगर पालिका में सफाई कर्मचारी के पद पर कार्यरत है। शुक्रवार शाम को दी गयी इस दबिश में प्रेमी युगल तो नहीं मिले, लेकिन पुलिस ने छोटी को उठा लिया और देर शाम खैराबाद थाने पर ले आयी।

खबरों के अनुसार थाने पर छोटी से इस बाबत पूछताछ की गयी, लेकिन जब उसने इस मामले की जानकारी होने से इनकार किया तो उसकी पिटाई शुरू कर दी गयी। बताते हैं कि छोटी को पुलिस ने नंगा कर दिया और पूरे थाना परिसर में घसीट-घसीट कर घंटों पीटा। पुलिस की इस बर्बर पिटाई से छोटी की हालत बिगड गयी और वह बेहोश हो गयी। इससे घबरायी पुलिस ने उसपर आनन-फानन कपडे डाले और उसे आज शनिवार को तडके बडई जलालपुर गांव के बाहर फेंककर भाग गये। सुबह शौच के लिए निकले गांववालों की निगाह बेहोश पडी छोटी पर पडी तो वे उसे लेकर अस्पुताल पहुंचे जहां उसकी हालत की गंभीरता को देखते हुए उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है। छोटी ने अपने साथ हुई वारदात की पुष्टि भी कर दी है, लेकिन अभी तक जिला प्रशासन या पुलिस का कोई भी व्यक्ति अस्पताल नहीं पहुंचा है और ना ही इस मामले के दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई ही की गयी है। लेकिन इस घटना ने प्रदेश सरकार के दावों का कलई तो खोल ही दी है। साभार : मेरी बिटिया डॉट कॉम


AddThis