पत्रकारों की हत्या की गुत्थी सुलझाने में पाकिस्तान से भी पीछे है भारत

E-mail Print PDF

नई दिल्ली। मुम्बई में वरिष्ठ क्राइम रिपोर्टर की हत्या के बीच आई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पत्रकारों की हत्या की गुत्थी सुलझाने में भारत का दुनिया भर में 13 वां स्थान है। पत्रकार सुरक्षा समिति (सीपीजे) की रिपोर्ट के अनुसार 13 देशों में भारत सातवें स्थान पर है। 1 जनवरी 2001 से 31 दिसम्बर 2010 के बीच केवल 13 देशों में ही पांच या पांच से ज्यादा पत्रकारों की हत्या की गुत्थी सुलझा नहीं पाने वाले देशों को ही इस सूची में शामिल किया गया।

सीपीजे की रिपोर्ट में हर देश की जनसंख्या के आधार पर अनसुलझे मामलों की गणना की गई। इराक में सबसे ज्यादा 92 मामले अनसुलझे मिले। जबकि फिलीपीन्स 52 अनसुलझे मामलों के साथ दूसरे स्थान पर रहा। पाकिस्तान दसवें और भारत 13 वें स्थान पर रहा। जबकि बंग्लादेश को 11वें स्थान पर रखा गया है। उधर, मुंबई में जानेमाने खोजी पत्रकार जेडे की हत्या के बाद मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने आपात बैठक बुलाकर घटना की जांच के आदेश दिए। उन्होंने मुंबई पुलिस कमिश्नर को दोषियों को जल्द पकड़ने के आदेश भी दिए। बैठक में गृह राज्य मंत्री आर आर पाटिल, कमिश्नर पटनायकर, जॉइन्ट कमिश्नर हिमांशु रॉय समेत कई पुलिस और सरकारी अधिकारी मौजूद थे।


AddThis