जेडे हत्याकांड की सीबीआई जांच कराने से महाराष्ट्र सरकार का इनकार

E-mail Print PDF

: नाराज पत्रकारों ने 15 जून से आजाद मैदान पर क्रमिक अनशन की घोषणा की : मुंबई के सैकड़ों पत्रकारों ने प्रेस क्लब से मंत्रालय तक जुलूस निकाल प्रदर्शन किया : सीबीआई जांच के लिए कोर्ट जाएंगे और पीएम से मिलेंगे पत्रकार : मुंबई : मुंबई के पत्रकारों ने जबर्दस्त एकता दिखाई. मिड के इनवेस्टिगेटिंग एडिटर और वरिष्ठ पत्रकार जेडे की हत्या के विरोध में सोमवार को पत्रकारों ने मंत्रालय के सामने विशाल मोर्चा निकाला.

मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के साथ पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधियों की बातचीत में मामले की सीबीआई जांच की मांग की गई पर सीएम इसके के लिए तैयार नहीं हुए. अब पत्रकार संगठनों ने अपनी मांगो के समर्थन में 15 जून से आजाद मैदान पर क्रमिक अनशन शुरू करने का एलान किया है.  मुंबई महानगर में दिनदहाड़े हुए पत्रकार की हत्या से क्षुब्ध सैकडों पत्रकार सोमवार की  सुबह प्रेस क्लब पर जुटे और वहां से मोर्र्चे की शक्ल में मंत्रालय पहुंचे.

पत्रकारों की मांग पर मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने मंत्रालय के गेट पर आकर पत्रकारों से मुलाकात की. उन्होंने कहा- ''इस हत्याकांड की कई स्तरों पर जांच चल रही है. आज भी मैंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से इस बाबत चर्चा की है. हम आप की भावनाओं को समझते हैं. पत्रकारों की सुरक्षा के लिए सभी जरुरी कदम उठाए जाऐंगे. सरकार ने इस घटना को बेहद गंभीरता से लिया है.''

मुख्यमंत्री के आश्वासन से पत्रकार संतुष्ठ नहीं हुए और उन्होंने जेडे हत्याकांड की सीबीआई जांच के लिए सिफारिश किए जाने की मांग की. मुख्यमंत्री के साथ पत्रकार संगठनों की कई दौर की बातचीत हुई पर मुख्यमंत्री ने यह कह कर सीबीआई जांच से इंकार कर दिया कि मामले की जांच क्राईम ब्रांच कर रही हैं और सरकार को अभी सीबीआई जांच की जरूरत नहीं महसूस होती. इसके बाद पत्रकार हमला विरोधी कृति समिति ने घोषणा की कि 15 जून तक इस मामले में कोई ठोस परिणाम नहीं निकला तो पत्रकार संगठन आजाद मैदान में भूख हडताल करेंगे. समिति ने फैसला किया है कि सीबीआई जांच को लेकर बाम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर किया जाएगा और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी मुलाकात की जाएगी.

मुंबई से विजय सिंह कौशिक की रिपोर्ट


AddThis