जेडे हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने के लिए मुंबई के पत्रकार भूख हड़ताल पर

E-mail Print PDF

मुंबई से खबर है कि जेडे हत्याकांड की जांच सीबीआई से न कराने के महाराष्ट्र सरकार के फैसले के विरोध में आज पचास से ज्यादा पत्रकारों ने क्रमिक भूख हड़ताल की. मूसलाधार बारिश के बावजूद पत्रकार क्रमिक भूख हड़ताल के लिए 'मुम्बई मराठी पत्रकार संघ' में जुटने लगे. मुम्बई प्रेस क्लब के अध्यक्ष गुरबीर सिंह का कहना है कि कई और पत्रकार भूख हड़ताल में शामिल होंगे.

पत्रकार हल्ला विरोधी क्रुति समिति (पीएचवीकेएस) के अध्यक्ष एस.एम.देशमुख ने कहा कि राज्य के विविध हिस्सों में इसी तरह की सांकेतिक हड़तालें आयोजित की गई हैं. मुम्बई पत्रकार क्लब के सचिव सुनील शिवदेसानी ने कहा, 'मुख्यमंत्री ने गृहमत्री आर.आर. पाटील के इस्तीफे और शहर के पुलिस आयुक्त अरूप पटनायक के निलम्बन की हमारी मांगों पर विचार करने से इंकार कर दिया है इसके मद्देनजर पीएचवीकेएस ने आज से क्रमिक भूख हड़ताल के साथ अपना आंदोलन जारी रखने का फैसला किया है.' देशमुख ने बताया, 'मुम्बई में जहां आंदोलन जारी रहेगा वहीं इसी तरह की सांकेतिक भूख हड़तालें पुणे, औरंगाबाद, नागपुर और राज्य के कई अन्य जिलों में भी आयोजित की गई हैं.'

सोमवार को 500 से ज्यादा पत्रकारों के जुलूस के बाद राज्य सरकार ने भरोसा दिलाया था कि वह पत्रकारों की हिफाजत के लिए कानून बनाएगी लेकिन उसने डे की हत्या की जांच का दायित्व सीबीआई को सौंपने से इनकार कर दिया था. मंगलवार को मुख्यमंत्री चव्हाण ने एक बार फिर इस हत्याकांड की जांच संघीय जांच एजेंसी से कराने की मांग ठुकरा दी. हालांकि उन्होंने संकेत दिया कि मुम्बई पुलिस को इस हत्याकांड का कुछ सुराग लगा है.

साभार : नवभारत टाइम्स


AddThis