सड़क हादसे में अमर उजाला के दो अभिकर्ताओं की मौत

E-mail Print PDF

गाजीपुर जिला के सैदपुर कोतवाली क्षेत्र के ब्लाक के पास बुधवार की रात बारिश के दौरान अचानक एक विशालकाय नीम का पेड़ बोलेरो जीप और सेंट्रो कार पर गिर गया। जिसके चलते बोलेरो में सवार तीन लोग गाड़ी में ही फंस गए। इस हादसे में बोलेरो में सवार तीन में से दो लोगों की मौत हो गई। इस हादसे के कारण वाराणसी-गाजीपुर मार्ग घंटों जाम रहा। काफी मशक्‍कत के बाद पुलिस ने बोलेरो से दोनों शवों को बाहर निकाला।

पूरे गाजीपुर में मूसलधार बारिश हो रही थी। बुधवार को बोलेरो में सवार होकर मटेहूं निवासी सुनील सिंह,  महार निवासी अरुण चौबे और चालक किसी काम से वाराणसी जा रहे थे। उन लोगों के गाड़ी के पीछे एक सेंट्रो कार भी थी। अचानक नीम का पेड़ धड़धड़ाकर दोनों वाहनों के ऊपर गिर पड़ा। पेड़ का तना बोलेरो के ऊपर जा गिरा। जिससे उसमें बैठे तीनों लोग फंस गए। इसके चलते वाराणसी-गाजीपुर मार्ग जाम हो गया। सेंट्रो के ऊपर भी पेड़ का कुछ भाग गिरा लेकिन सौभाग्‍य से उसमें सवार लोग बच गए।

इधर, सूचना पाकर सैदपुर पुलिस मौके पर पहुंची तथा बोलेरो में फंसे लोगों को निकालने का प्रयास करने लगी। काफी देर बाद जब सभी को बाहर निकल गया,  लेकिन तब तक सुनील और अरुण की मौत हो चुकी थी. दोनों लोग शिक्षा विभाग जुड़े होने के साथ अमर उजाला में समाचार पत्र अभिकर्ता भी थे. दोनों की मौत की खबर सुनकर सादात विधायक अमेरिका प्रधान, बसपा नेता रामनगीना सिंह सहित तमाम लोग मौके पर पहुंच गए थे. पुलिस कप्‍तान डा. मनोज सिंह ने दोनों के मौत की पुष्टि की. दोनों अभिकर्ताओं की मौत की खबर सुनकर मीडियाकर्मियों में शोक की लहर दौड़ गई.


AddThis