अवैध वसूली : भीड़ ने दो पत्रकारों को धुना, पुलिस ने किया गिरफ्तार

E-mail Print PDF

राजधानी दिल्‍ली में डाक्टर को धमकाकर वसूली करने के आरोप ने पुलिस ने दो टीवी पत्रकारों को गिरफ्तार किया है। इनके तीन दूसरे साथी भागने में कामयाब रहे। आरोपियों की पहचान स्‍थानीय क्राइम कंट्रोल न्‍यूज चैनल के सीनियर क्राइम रिपोर्टर दिनेश जैन और उसके सहयोगी प्रवीन सैनी के रूप में हुई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार बुधवार की शाम को कुछ पुलिसकर्मी गश्‍त पर निकले हुए थे,  उसी दौरान टीम ने देखा कि डीडीए मार्केट में चौधरी क्लीनिक के पास भीड़ एकत्रित है। वहां पहुंचने पर पता चला कि पांच युवक खुद को मीडियाकर्मी और भ्रष्टाचार निरोधक शाखा का एसडीएम का बताकर डा. शफीक अहमद (बीएएमएस) को अवैध डिग्री पर प्रेशर करने की बात कह कर धमका रहे थे। साथ ही गिरफ्तारी से बचने के लिए एक लाख रुपये देने का दबाव डाल रहे थे।

पुलिस के मुताबिक डाक्टर शफीक पहले मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य रह चुके हैं। उन्‍हें पांचों युवकों की भूमिका संदिग्ध लगी। उन्होंने युवकों से अपना परिचय पत्र दिखाने को कहा। जिस पर सभी ने इनकार कर दिया। इस पर दिनेश जैन ने डाक्टर को धमकाते हुए कहा कि यदि वह एक लाख रुपये नहीं देंगे तो वह उनकी क्लीनिक का वीडियो और खबर बनाकर न्यूज चैनल पर प्रसारित करेगा तथा फर्जी प्रेक्टिस के आरोप में उन्हें गिरफ्तार करा देगा। इसी शोर शराबे के दौरान क्‍लीरनिक के पास काफी लोग इकट्ठे हो गए थे।

इस बीच कुछ लोगों ने इन युवकों को पहचान लिया। ये लोग कुछ पहले भी इसी इलाके के व्यवसायियों को धमकी देकर जबरन पैसे की मांग कर रहे थे। पहले से नाराज लोगों का गुस्‍सा सातवें आसमान पर चढ़ गया। युवकों के धमकी देने के रवैये से भीड़ बेकाबू हो गई औऱ सभी को पीटने लगी. दिनेश जैन और प्रवीन सैनी को भीड़ ने पकड़ लिया और जमकर धुनाई शुरू कर दी। जबकि इनके तीन अन्‍य साथी देव, अनुज और वैभव वैगनार कार छोड़कर फरार हो गए। देव और अनुज एनइसी न्यूज के लिए काम करते हैं। इसके बाद गश्‍ती पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

जांच में पता चला कि दिनेश जैन रोहिणी सेक्टर-पांच में रहता है। उसके पिता ईश्वर चंद जैन क्राइम कंट्रोल न्यूज चैनल के सीएमडी हैं। चैनल का टाइटल भारत सरकार से मान्यता प्राप्त है। जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि आरोपी इलाके के कई आइसक्रीम फैक्टरी मालिकों से भी जबरन रुपये वसूल कर चुके थे। पुलिस अब इनके तीनों सहयोगियों की तलाश कर रही है। पुलिस ने उम्‍मीद जताई है कि शीघ्र ही इन्‍हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


AddThis