साजिद राशिद ने पत्रकारिता में एक्टिविज्‍म को जिंदा रखा था

E-mail Print PDF

वरिष्ठ पत्रकार साजिद राशिद के असामयिक निधन पर जर्नलिस्ट यूनियन फॉर सिविल सोसाइटी (JUCS) ने शोक व्यक्त करते हुए इसे पत्रकारिता जगत के लिए बड़ी क्षति कहा। जेयूसीएस ने साजिद राशिद को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वे मौजूदा दौर में उर्दू और हिंदी के बीच के कड़ी थे। जिन्होंने अपनी पत्रकारिता में ऐक्टिविज्‍म को जिंदा रखा था। जेयूसीएस द्वारा समय-समय पर चलाए गए सांप्रदायिकता विरोधी अभियानों को साजिद राशिद ने न सिर्फ अपने अखबार सहाफत के जरिए पूरे मुल्क में पहुंचाया बल्कि ऐसे अभियानों में वे सदैव प्रेरणाश्रोत रहे।

धर्मनिरपेक्ष मूल्यों वाले साजिद राशिद का जाना एक बड़ी क्षति है। साजिद ने सदैव पत्रकारिता और उसके मूल्यों को और बेहतर और सुचारु रुप से चलाने के लिए जेयूसीएस के मीडिया मानिटरिंग सेल का साथ दिया और अयोध्या मामला जैसे महत्वपूर्ण फैसले का सवाल रहा हो या फिर अन्य कोई ऐसा सवाल जो देश को विभाजित करने की धमकी देता हो,  ऐसे मामलों के खिलाफ उन्‍हों ने हमें समय-समय पर प्रोत्साहन किया। जेयूसीएस ने अपने निर्माण की सीमित वर्षों में साजिद राशिद जैसे पत्रकारों के सहयोग और प्रोत्साहन के जरिए अनेक ऐसे अभियान चलाए थे, अब भविष्य में ऐसे अभियानों में साजिद राशिद की कमी खलेगी। प्रेस रिलीज


AddThis