जागरण के रिपोर्टर के साथ पत्रकारों ने मारपीट की

E-mail Print PDF

देवरिया में दैनिक जागरण के पत्रकार राज नारायण मिश्रा से दूसरे अखबारों से जुड़े पत्रकारों ने मारपीट की. मामला जागरण द्वारा कई विभागों के खिलाफ अभियान चलाए जाने को लेकर था, जिससे स्‍थानीय पत्रकार खफा थे. इस मामले में जागरण से जुड़े एक पत्रकार को काम करने से रोक दिया गया है. राज नारायण ने इस मामले में पुलिस में कोई मुकदमा दर्ज नहीं कराया है.

तीन महीने पहले राजनारायण का तबादला गोरखपुर से देवरिया के लिए किया गया है. उन्‍हें देवरिया के रुद्रपुर तहसील का प्रभारी बनाया गया है. वहां पिछले दिनों जागरण ने गैस की कालाबाजारी एवं स्‍कूल ना जाने वाले अध्‍यापकों को लेकर अभियान छेड़ा था. जिससे अन्‍य अखबारों के पत्रकारों को काफी नुकसान हुआ था. गैस की कालाबाजारी की खबर छपने के बाद पूर्ति निरीक्षक के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हुआ था. इसे लेकर यहां के स्‍थानीय पत्रकार राज नारायण से काफी खफा थे.

इस संदर्भ में राज नारायण मिश्रा ने बताया कि कल वो बैठे हुए थे तो सुरेंद्र देव मिश्रा, नंद किशोर, संजय साही पहुंचे तथा बातचीत करते हुए अचानक हाथापाई पर उतर आए. सभी ने शराब पी रखी थी. मुझसे गाली ग्‍लौज भी किया गया. चूंकि मेरे खबरों से इन लोगों को काफी नुकसान हो रहा था, लिहाजा इन लोगों ने मुझे नुकसान पहुंचाने से ज्‍यादा बेइज्‍जत करने के इरादे से मारपीट की. उन्‍होंने बताया कि इसके पीछे मेरा एक सहयोगी रमेश शुक्‍ला भी शामिल था,‍ जिसकी जानकारी होने के बाद प्रबंधन ने उसे काम करने से रोक दिया है. राज नारायण ने बताया कि मुझे बाहरी समझकर मुझे डराने की कोशिश की जा रही है.


AddThis