हमले में बीबीसी पश्तो रेडियो सेवा के रिपोर्टर की मौत

E-mail Print PDF

काबुल से खबर है कि अफगानिस्तान में गुरुवार के दिन तालिबान आतंकियों के आत्मघाती विस्फोटों में कम से कम 25 लोग मारे गए। मरने वालों में छह आतंकवादी और बीबीसी का एक पत्रकार भी शामिल है। पत्रकार का नाम अहमद ओमिद खपेलवाक है। वे बीबीसी पश्तो रेडियो सेवा में बतौर रिपोर्टर काम करते थे। आत्मघाती हमले में पत्रकार की मौत पर मीडिया जगत में शोक है। विस्फोट दोपहर करीब 12:30 बजे होने शुरू हुए। चार घंटे संघर्ष के बाद स्थिति पर काबू कर लिया गया।

समाचार एजेसी 'सिन्हुआ' ने प्रांतीय प्रवक्ता अहमद मिलाद मुदसिर के हवाले से कहा कि उरुजगान प्रांत की राजधानी ट्रिंकोट में हुए हमलों में अन्य 35 लोग घायल हो गए। बीबीसी ने हालांकि मृतकों की संख्या 22 बताई है। उसके मुताबिक तीन आत्मघाती विस्फोटों के बाद एक बाजार में मुठभेड़ हुई और वहां आठ आतंकवादी मौजूद थे। समाचार एजेंसी के अनुसार ट्रिंकोट शहर के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख खान आगा नियाखिल ने बताया कि मरने वालों में 10 बच्चे और दो महिलाएं भी शामिल हैं।

तालिबान के एक प्रवक्ता कारी यूसुफ अहमदी ने एक अज्ञात स्थान से टेलीफोन पर मीडिया को बताया कि आत्मघाती विस्फोटकों और छोटे हथियारों से लैस होकर उनके छह लड़ाकों ने एक स्थानीय टेलीविजन नेटवर्क, पुलिस विभाग और प्रांतीय गवर्नर के कार्यालय को निशाना बनाया। अफगानिस्तान के खुफिया अधिकारियों ने बताया कि कम से कम एक विस्फोट गवर्नर के कार्यालय के समीप हुआ और एक विस्फोट एक सुरक्षा कम्पनी के कार्यालयों के नजदीक हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमले में दोनों तरफ से भारी मशीनगनों, ग्रेनेड और रायफलों का इस्तेमाल हुआ।


AddThis