संपादक के घर घुसकर अभियंताओं ने की मारपीट, लूटे 18 हजार रुपए

E-mail Print PDF

अगर आप उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के रहने वाले हैं तो होशियार हो जाइये क्योंकि अब गाजियाबाद में नए अपराधी आ गए हैं, जो सुबह 10  से 5 बजे तक तो जीडीए में अभियंता की नौकरी करते हैं और सुबह आफिस जाने से पहले या उसके बाद आरटीआई से सूचना मांगने वालों के घर में घुस कर मारपीट करते हैं और रुपया भी लूट ले जाते हैं. ये मजाक या जोक नहीं है हकीकत है.

आज एनसीआर अपडेट अखबार के सम्पादक पंडित जगन्नाथ मिश्रा यानी मेरे घर में घुस कर जीडीए के अभियंता विजेंद्र चौधरी व उसके 3 अन्य साथियों ने मेरी पत्नी और उनके साथ मारपीट की और उनके बेड पर रखे 18 हजार रुपया भी ले कर चले गए.  इस घटना में सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि मेरा दोष ये था कि मैंने आरटीआई के तहत जीडीए से कुछ जानकारी मांगी थी. जब इसकी सूचना मिली तो कई पत्रकार मित्र ने इन्द्रापुरम थाने पहुंचे और फिर पुलिस को अभियोग पंजीकृत करने के लिए तहरीर दी.  इन्द्रापुरम पुलिस ने डाक्टरी के लिए मजरुमी चिठ्ठी दे दी डाक्टरी परिक्षण के बाद अभी तक मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई है और अभियंता महोदय आराम से घूम रहे हैं.

पुलिस उनको गिरफ्तार जल्द कर लेगी का झूठा वादा कर मुझे थामने की कोशिश की जा रही है.  सबसे बड़ी बात ये है कि जिस थाना पुलिस ने मामला ही पंजीकृत नहीं किया वो क्या अभियंता को गिरफ्तार कर पायेगी.  अब देखना ये है कि अभियंता कितने रुपये में पुलिस से मामला मैनेज करवाने का देता है और क्या बड़े खर्च के बाद मीडिया से बच पायेगा.  इस  मामले को दबाने में पुलिस भी जुटी है क्योंकि मामला सुबह 9: 30  बजे का है और घर में घुस कर मारपीट करना ही नहीं 18  हजार की लूट का है और लूट के मामले में इन्द्रापुरम के थानाध्यक्ष भी नप सकते हैं.

पंडित जगन्‍नाथ मिश्र द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis