खबर करने गए टीवी पत्रकार का अपहरण करके जानलेवा हमला

E-mail Print PDF

प्रदेश सरकार की योजना के अंतर्गत ग्रामीण बच्चों के भविष्य को उज्ज्‍वल बनाने के लिए खुले गए प्राथमिक-उच्च प्राथमिक विद्यालय से प्रधानाध्यापकों की पौ बारह हो रही है। प्रधानाध्यापक समय से विद्यालयों में बच्चों को शिक्षा देने की जगह घर बैठे वेतन पा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अभी कुछ ही दिनों पूर्व टूंडला तहसील के अंतर्गत आने वाले प्राथमिक विद्यालय रसूलाबाद में देखने को मिला।

यहां प्रतिदिन विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रेनू यादव सुबह 9 बजे के स्थान पर 9.30 से 11 बजे तक विद्यालय खोलती हैं। बच्‍चों को मिड डे मिल भी नहीं मिलता है। शिकायत मिलने पर कवरेज करने गए एक टीवी चैनल के रिपोर्टर हितेन्द्र यादव की पहले तो विद्यालय प्रधानाध्यापिका रेनू यादव से तीखी नोंकझोंक हुई। इसके बाद रेनू यादव ने अपने मामा धीरेन्द्र यादव व उनके गुर्गों की सहायता से रिपोर्टर को बीच रास्ते में सफेद रंग की स्कॉर्पियो में किडनैप करवाकर मारपीट की घटना को अंजाम दिया। किसी तरह रिपोर्टर स्कॉर्पियो से कूदकर भाग निकला। जिसकी रिपोर्ट थाना टूंडला में भी दर्ज करायी। पुलिस ने मामला को एनसीआर में दर्ज किया है।

मामले के डीएम सुरेन्द्र सिंह तक पहुंचने पर हालांकि प्रधानाध्यापिका को निलंबित कर दिया गया, लेकिन बताया जाता है, कि रेनू यादव का पति एडीओ पंचायत है। जिस कारण उसकी बहाली के आसार भी पूरे-पूरे हैं। प्रधानाध्‍यापिका की तरफ से भी मुकदमा दर्ज कराया गया है, जिसमें उसने पत्रकार पर पैसे मांगने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। अब प्रधानाध्यापिका की ओर से रिपोर्टर पर राजीनामे के लिए दवाब बनाया जा रहा है। कुछ लोग पत्रकार के घर पहुंचकर उसे धमकी भी दे रहे हैं कि अगर प्रधानाध्‍यापिका की नौकरी को कुछ हुआ तो इसका अंजाम बुरा होगा।


AddThis