पत्रकारों पर हमला : कठोर कार्रवाई न होने से नाराज मीडियाकर्मियों ने धरना दिया

E-mail Print PDF

उत्‍तराखंड के उत्‍तरकाशी में पायलट बाबा आश्रम में मीडियाकर्मियों के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों के खिलाफ पुलिस एवं प्रशासन द्वारा नरमी दिखाए जाने से नाराज पत्रकारों ने कलक्‍ट्रेट में दो घंटे तक धरना दिया तथा कार्रवाई न होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी. पुलिस के रवैये से पत्रकारों में रोष है.

उल्‍लेखनीय है कि स्वतंत्रता दिवस पर खबरों के सिलसिले में सैंज स्थित पायलट बाबा आश्रम में पहुंचे कुछ मीडियाकर्मियों के साथ आश्रम प्रबंधन के कर्मचारियों ने मारपीट की थी, जिसमें कई पत्रकार जख्‍मी हुए थे. पत्रकारों की शिकायत पर पुलिस के मारपीट करने वाले आरोपियें के खिलाफ हल्की फुल्की धारा लगाकर दिया,  जिससे सभी को कोर्ट में जमानत मिल गई.

मीडियाकर्मियों तथा अन्य सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने जिला एवं पुलिस प्रशासन की इस कार्यप्रणाली पर रोष प्रकट करते हुए कलक्ट्रेट में दो घंटे तक धरना दिया. नाराज मीडियाकर्मियों ने जिलाधिकारी के माध्‍यम मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन भेजा और पुलिस के खुले संरक्षण में पल रहे इन अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने, थाना प्रभारी मनेरी का स्थानांतरण करने तथा उनके आश्रम से संबंधों की जांच, आश्रम में ठहरने वाले विदेशी नागरिकों की जांच तथा वहां के कर्मचारियों के पुलिस वेरिफिकेशन की स्थिति की जांच करवाने की मांग की है.

पत्रकारों ने चेतावनी दी है कि मांग पूरी न होने तक रोजाना एक घंटा धरना-प्रदर्शन किया जाएगा. अगर तब भी बात नहीं बनी और मीडियाकर्मियों को न्‍याय नहीं मिला तो आंदोलन को और अधिक तेज किया जाएगा.  धरने में वरिष्ठ पत्रकार सूरत सिंह रावत, प्रेस क्लब अध्यक्ष प्रताप सिंह रावत, राजेंद्र भट्ट, सुनील नवप्रभात, संतोष भट्ट, पुष्कर सिंह रावत, लोकेंद्र सिंह बिष्ट, पंकज गुप्ता, देवेंद्र रावत, जयप्रकाश राणा, भाजयुमो जिलाध्यक्ष नवीन पैन्यूली, महामंत्री कमल किशोर जोशी, दिनेश भट्ट सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे.


AddThis