डाक्‍टरों की लापरवाही से पत्रकार के मासूम पुत्र की मौत

E-mail Print PDF

भगवान माने जाने डाक्‍टरों की लापरवाही ने एक मासूम की जान ले ली. टीवी टुड़े ग्रुप चैनल तेज के एसोसिएट ईपी प्रणव रावल के पांच साल का बच्‍चा डाक्‍टरों की गलत इलाज के चलते  असयम काल के गाल में समा गया. रावल ने अपने पुत्र को तबीयत खराब होने पर इंदिरापुरम, गाजियाबाद के एक अस्‍पताल में भर्ती कराया था. डाक्‍टरों ने मासूम को टाइफाइड बताकर इलाज शुरू कर दिया, जिससे बच्‍चे की हालत बिगड़ गई.

इधर, जांच में यह बात सामने आई कि बच्‍चे को टाइफाइड नहीं बल्कि डेंगू हुआ था. गलत दवाओं के असर बच्‍चे के कई अंगों पर विपरीत प्रभाव पड़ा जिससे उसकी मौत हो गई. बच्‍चे की अन्‍त्‍येष्टि के दौरान काफी संख्‍या में पत्रकार उपस्थित रहे. एक मासूम की मौत से सभी लोग आहत थे. इस दुखद सूचना के बाद टीवी टुडे में भी माहौल गमगीन हो गया था. प्रणव रावल की गिनती टीवी टुडे ग्रुप के अच्‍छे तथा सुलझे पत्रकारों में की जाती है.


AddThis