वयोवृद्ध पत्रकार बलराम दत्त शर्मा नहीं रहे

E-mail Print PDF

: चंडीगढ़ : वयोवृद्ध पत्रकार बलराम दत्त शर्मा का आज लंबी बीमारी के बाद पंचकूला में उनके निवास पर निधन हो गया. वह लगभग ७० वर्ष के थे तथा अपने पीछे चार पुत्र और एक पुत्री छोड़ गये हैं. उनका अंतिम संस्कार कल दोपहर १२ बजे मनीमाजरा के शहदाह गृह में किया जायेगा. बलराम दत्त शर्मा ने अपना करियर बीकानेर में १९६४ में जिला लोक संपर्क अधिकारी के तौर पर शुरू किया था. वहां वह १९७४ तक रहे. इसके पश्चात् १९७४ से १९७८ तक उन्होंने पंजाब केसरी, जालधंर में काम किया.

१९७८ में वह दैनिक ट्रिब्यून में उप संपादक के पद पर आये थे. वहां उन्होंने मुख्य संपादक, समाचार संपादक तथा वरिष्ठ सहायक संपादक के पद पर कार्य किया. वर्ष १९९९ से वर्ष २००४ तक वह दिव्य हिमाचल में समाचार संपादक के पद पर कार्य करते है। पत्र-पत्रिकाओं में बलराम दत्त शर्मा एक चर्चित नाम रहा है. दिल्ली प्रेस की पत्रिकाओं सरिता, मुक्ता आदि से वह लंबे समय तक जुड़े रहे. उनकी दिल्ली प्रेस में हजारों रचनाएं छपी हैं. बलराम दत्त शर्मा ने विदेश, राजनीति, फिल्मों आदि के विषय में अनेक पत्र-पत्रिकाओं में अनेक लेख लिखे हैं. वह एक साहित्यकार और व्यंग्यकार भी रहे हैं. पंजाब विश्वविद्यालय के प्रौढ़ शिक्षा कार्यक्रम के लिए भी उन्होंने बहुत सारा साहित्य लिखा है.

वह पंजाब चंडीगढ़ पत्रकार परिषद के संस्थापक सदस्य भी रहे तथा इस संस्था के महासचिव भी रहे. पत्रकारिता और साहित्य में उनके योगदान के लिए उन्हें कईं बार पंजाब एवं हरियाणा सरकारों द्वारा सम्मानित भी किया गया. हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने बलराम दत्त शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने शोक संदेश में उन्हें एक प्रबुद्ध पत्रकार बताया जिन्हें उनकी निष्पक्ष लेखनी के लिए सदैव याद किया जाएगा. उन्होंने बताया कि बलराम दत्त शर्मा ने हिन्दी पत्रकारिता के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया.  हुड्डा ने प्रार्थना की कि भगवान दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे. उन्होंने शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की.


AddThis