भास्‍कर समूह की गुंडागर्दी, पत्रकारों पर कराया मुकदमा

E-mail Print PDF

रायगढ़ जिले धरमजयगढ़ में दैनिक भास्कर समूह की कोल डिविज़न का एक ब्लाक सरकार ने आबंटित किया है, जिसकी जनसुनवाई 28 फ़रवरी को होनी है, पर इससे पहले दैनिक भास्कर समूह ने गुंडागर्दी की पराकाष्ठ पार कर दी. 22 फ़रवरी को स्थानीय ग्रामीणों ने डीबी पॉवर के खिलाफ हल्ला बोल दिया और उनके धरमजयगढ़ स्थित कार्यालय में तोड़-फोड़ कर दी. इसके बाद डीबी पॉवर के अधिकारियों ने ग्रामीणों के अलावा उन पत्रकारों पर भी एफ़आईआर दर्ज करावा दी, जो घटना की कवरेज़ करने गए थे.

वहां के स्थानीय लोगों ने जब पत्रकारों के समर्थन में मोर्चा खोल दिया, तब जाकर प्रशासन ने विवेचना में पत्रकारों का नाम हटाने का आश्वासन दिया. इस मामले क दूसरा लज्जास्पद पहलू यह है कि 2 अखबार (स्थानीय) और एक चैनल (सहारा समय) को छोड़ कर किसी ने भी इस खबर को न छापा न दिखाया. मीडिया के इस चुप्पी से दैनिक भास्कर समूह के लोगों का मनोबल बढ़ा हुआ है. दूसरी ओर उनके अपने समाचार पत्र में जो जी में आया लिखा भी गया. पहले यहाँ उद्योगों की दादागीरी चला करती थी अब मीडियागिरी हावी हो जाएगी और आम आदमी का सुनने वाला शायद ही कोई रहेगा.

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis