बकाया पैसा न मिलने पर शोभना भरतिया को चिट्ठी भेजा पवन ने

E-mail Print PDF

पवन कुमार द्विवेदी इन दिनों राष्ट्रीय सहारा,  इलाहाबाद में सीनियर रिपोर्टर हैं. उससे पहले वे हिंदुस्तान में कार्यरत थे. हिंदुस्तान छोड़ने के ढाई महीने बाद भी उनका बकाया भुगतान अभी तक नहीं मिला है. इससे दुखी पवन ने हिंदुस्तान, इलाहाबाद के प्रबंधन को एक चिट्ठी भेजी है. साथ ही इस चिट्ठी की कापी कंपनी की चेयरपर्सन शोभना भरतीय चेयरपर्सन के पास भी रवाना किया है. द्विवेदी का आरोप है कि उनका 35 हजार रुपये बकाया हिंदुस्तान पर निकल रहा है और इस अखबार ने अस्सी दिन बीत जाने के बावजूद उनके बकाये रकम का भुगतान नहीं किया है. ज्ञात हो कि द्विवेद्वी करीब दस वर्षों तक हिंदुस्तान की सेवा में रहे. उनका कहना है कि किसी पत्रकार को सेवा के बदले रूला-रूलाकर दिये जाने वाले वेतन भुगतान की बदनामी के चलते ही हिंदुस्तान अपने मकसद से भटक रहा है.


AddThis