चौकी इंचार्ज ने पत्रकार से किया दुर्व्‍यहार, डीआईजी ने थमाया जांच का लॉलीपाप

E-mail Print PDF

अपराधियों और बदमाशों की जीहुजूरी करने वाली यूपी पुलिस आम लोगों और पत्रकारों को निशाना बना रही है. चार दिन पहले लखनऊ के निराला नगर चौकी इंचार्ज प्रेमप्रकाश वार्ष्‍णेय ने आई-नेक्‍स्‍ट के पत्रकार कौशलेंद्र के साथ दुर्व्‍यवहार किया तथा मारापीटा. पत्रकार ने इसकी शिकायत डीआईजी डीके ठाकुर से की है. डीआईजी ने इस मामले की जांच एएसपी ट्रांसगोमती को सौंपी है.

पत्रकार कौशलेंद्र निरालानगर क्षेत्र में एक ए‍टीएम से पैसे निकालने के लिए अपनी गाड़ी रोकी. इसी दौरान वाहन चेकिंग के नाम पर निराला नगर चौकी इंचार्ज प्रेमप्रकाश तथा उसके साथ के सिपाही मोटरसाइकिल के कागज की मांग की. कौशलेंद्र ने बताया कि यह गाड़ी उसके दोस्‍त का है, थोड़े पैसे निकालने थे इसलिए लेकर चला आया. इसके बाद सभी पुलिसकर्मी कौशलेंद्र के बुरा भला कहते हुए दुर्व्‍यवहार शुरू कर दिया.

कौशलेंद्र ने जब कहा कि अगर आपको परेशानी है तो आप नियमानुसार चालान काट दीजिए. इसके बाद सभी पुलिस वालों ने कौशलेंद्र से मारपीट शुरू कर दी. एक सिपाही ने कहा कि पैसे ले-देकर मामला सुलटा लो पर कौशलेंद्र ने इनकार कर दिया. किसी तरह कौशलेंद्र को छोड़ा गया. उन्‍होंने इस पूरे मामले की शिकायत डीआईजी डीके ठाकुर से की.‍ जिसके बाद उन्‍होंने इसकी जांच एएसपी ट्रांसगोमती को सौंपी गई है.

जागरण


AddThis