चंडीदत्‍त देंगे स्‍वाभिमान से इस्‍तीफा, हरेंद्र ने स्‍वदेश छोड़ा

E-mail Print PDF

स्‍वाभिमान टाइम्‍स से खबर है कि चंडीदत्‍त शुक्‍ल कार्यालय नहीं जा रहे हैं. उन्‍होंने अभी तक संस्‍थान को इस्‍तीफा नहीं दिया है परन्‍तु माना जा रहा है कि वे संस्‍थान को अलविदा कह देंगे. वे यहां पर सीनियर न्‍यूज एडिटर थे. चंडीदत्‍त इसके पहले लम्‍बा समय दैनिक जागरण के साथ गुजार चुके हैं. कवि के रूप में पहचान रखने वाले चंडीदत्‍त फोकस टीवी को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

ग्‍वालियर से प्रकाशित दैनिक स्‍वदेश से हरेंद्र सारस्‍वत ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर न्‍यूज एडिटर थे. वे पिछले लगभग एक साल से दैनिक स्‍वदेश से जुड़े हुए थे. इसके पहले वे कई अखबारों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं. वे अपनी पारी कहां से शुरू करने वाले हैं इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है.


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by Sanjiv Bakshi, July 07, 2011
Chandi Bhai, bade dino baad aapka naam dekhne ko mila. ek baat to pakki hai pandit ji, zarur kisi baat se aapke KAVI HRIDAY ko thes lagi hogi varna aapka ye chandi dwara pradatt roop yoon hi nahi dikhta.
...
written by chandi, May 10, 2011
yashwant bhai.

bahut maza aata hai raja hindustani aur j kumar jaise logon ke comments padhakar. waise yeh log agar apne asli naam ke saath milte to kitna maza aata...ha ha ha. hai ki nahi. sadbudhdhi aur eeshwar!!!! hmmm.... smilies/cheesy.gifsmilies/wink.gifsmilies/smiley.gif
...
written by j kumar, May 10, 2011
smilies/smiley.gifsmilies/smiley.gif lagta hai ki ab Swabhiman Times ka kuchh bhala ho jayega.......waise jo tumne doosron ke sath kiya hai chandi wohi tumhare sath ho raha hai...... Bhagwan tumhe sadbudhhi de....
...
written by राजा हिंदुस्तानी, May 09, 2011
क्या हो गया चंडी। किसी ने छेड़ दिया या कहीं और बात फाइनल हो गयी है। तुम तो टिकने वाले पत्रकार हो यार। निर्मलेंदु से नहीं पटी या किसी ने चिकोटी काट ली।

Write comment

busy
Last Updated ( Monday, 09 May 2011 16:31 )