कल्‍याण कुमार ने शेखर टाइम्‍स का साथ छोड़ा, अखिलेश का तबादला

E-mail Print PDF

वरिष्‍ठ पत्रकार और शाहजहांपुर से प्रकाशित शेखर टाइम्‍स के सलाहकार संपादक कल्याण कुमार अब इसके हिस्‍से नहीं रहे. तीन महीने का कांट्रैक्‍ट समाप्‍त होने के बाद उन्‍होंने इसे और बढ़ाने से इनकार कर दिया. खबर है कि उनके पास प्रिंट और इलेक्‍ट्रा‍निक मीडिया के दो प्रोजेक्‍ट हैं. उनके एक सप्‍ताह के भीतर किसी एक से जुड़ने की संभावना है. कल्‍याण कुमार गिनती तेजतर्रार एवं सुलझे हुए पत्रकारों में होती है.

कल्‍याण कुमार शाहजहांपुर में शेखर टाइम्‍स से जुड़ने से पहले दैनिक जागरण, बरेली के स्‍थानीय संपादक थे. कैंटीन विवाद के बाद उन्‍होंने इस्‍तीफा दे दिया था. इसके पहले वे वॉयस ऑफ इंडिया के साथ जुड़े हुए थे. जागरण, पानीपत में भी वे वरिष्‍ठ पोस्‍ट पर रहे थे. बताया जा रहा है कि बच्‍चों के शिक्षा सत्र की वजह से उन्‍होंने शेखर टाइम्‍स का सलाहाकार संपादक बनने की हामी भरी थी. अब बच्‍चों की पढ़ाई खतम हो चुकी है.

मात्र चार लोगों की टीम के साथ उन्‍होंने इस अखबार को बढि़या पहचान दे दी थी.  शाहजहांपुर में शेखर टाइम्‍स ने एक अच्‍छी पहचान बना ली है.उनका जाना इस अखबार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. इनके नेतृत्‍व में ही शेखर टाइम्‍स को रिलांच किया गया था. इस अखबार के संपादक और प्रकाशक सरदार शर्मा हैं.

हिंदुस्‍तान, बदायूं की इंचार्जी छोड़कर दैनिक जागरण, मुरादाबाद ज्‍वाइन करने वाले अखिलेश शर्मा का तबादला जागरण प्रबंधन ने बरेली कर दिया है. दो महीने पहले ही उन्‍होंने मुरादाबाद में ज्‍वाइन किया था. बरेली में उन्‍हें सिटी डेस्‍क पर तैनात किया गया है.


AddThis
Last Updated ( Wednesday, 11 May 2011 19:38 )