अमर उजाला से विदा किए गए अरविंद मोहन

E-mail Print PDF

पिछले साल मार्च महीने में अमर उजाला में एग्जीक्यूटिव एडिटर के पद पर ज्वाइन करने वाले अरविंद मोहन के बारे में खबर है कि उनका संस्थान से नाता समाप्त हो चुका है. सूत्रों के मुताबिक अमर उजाला प्रबंधन से अनबन के कारण अरविंद मोहन को जाना पड़ा. ग्रुप के सभी वरिष्ठ लोगों को सूचित कर दिया गया है कि अरविंद मोहन अब संस्थान के हिस्से नहीं हैं, इसलिए उनसे अब कामकाज के लिहाज से किसी तरह का कोई संपर्क नहीं रखा जाए.

कुछ लोगों का कहना है कि अरविंद मोहन के कामकाज को लेकर प्रबंधन संतुष्ट नहीं था. वहीं कुछ का कहना है कि यशवंत व्यास से मतभेद के कारण अरविंद मोहन को जाना पड़ा. इस बारे में जब भड़ास4मीडिया ने अरविंद मोहन से बात की तो उन्होंने अमर उजाला से इस्तीफे की खबर को गलत बताया और उनका कहना था कि वे अब भी अमर उजाला के साथ हैं. पर सूत्र कहते हैं कि करीब महीने भर से अरविंद मोहन नोटिस पीरियड पर चल रहे थे और अब फाइनली उनकी विदाई हो गई है.  अरविंद मोहन 30 वर्षों से मीडिया में है. हिंदुस्तान, इंडिया टुडे, जनसत्ता सरीखी पत्र-पत्रिकाओं में काम कर चुके अरविंद मोहन जागरण के मीडिया स्कूल में भी पढ़ाते रहे हैं.


AddThis