सहारा इंडिया परिवार के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर विनीत मित्तल बर्खास्त

E-mail Print PDF

सहारा समूह में उलटफेर का दौर जारी है. अनिल अब्राहम और स्वतंत्र मिश्रा के बाद विनीत मित्तल पर भी गाज गिरा दी गई है. विनीत मित्तल सहारा में एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर के पद पर कार्यरत थे. इन पर वित्तीय अनियमितता के आरोप लगे हैं. सहारा ने विनीत मित्तल को समूह से बाहर किए जाने की सूचना राष्ट्रीय सहारा अखबार में पहले पन्ने पर विज्ञापन प्रकाशित करके की है.

इस विज्ञापन में विनीत मित्तल के तस्वीर को भी चस्पा किया गया है. विज्ञापन में कहा गया है कि विनीत मित्तल ने संस्था के खिलाफ जो काम किए और जो वित्तीय हेराफेरी की है, इससे प्रमाण व सुबूत मिल चुके हैं और जांच में यह सब सही पाया गया है, इसी कारण उनको निकाला जा रहा है. विज्ञापन में यह भी लिखा गया है कि पहले भी विनीत पर आर्थिक गड़बड़ियों के आरोप लगते रहे हैं पर वे संदेह का लाभ लेकर बच जाते थे. पर इस बार उनके खिलाफ लगे आरोप सच पाए गए इसलिए उन्हें बर्खास्त किया जा रहा है. एमसीसी चीफ विनीत्त मित्तल को बाहर किए जाने के बाद चर्चा है कि सुब्रत राय ने एक नई कोर टीम बनाई है जिसके चीफ कोई सौरभ चक्रवर्ती बनाए गए हैं. ये कोर टीम पूरे सहारा ग्रुप के सभी विभागों यहां तक कि मीडिया को भी नियंत्रित करेगा और सीधे सुब्रत राय को रिपोर्ट करेगा.

पहले ये व्यवस्था विनीत्त मित्तल के नेतृत्व में एमसीसी करती थी. ये वही विनीत्त मित्तल हैं जिनके खिलाफ ईडी और सीबीआई एक इंस्टीट्यूट के मामले में पहले से जांच कर रही है. विनीत्त मित्तल अभी तक सबसे मजबूत माने जाते रहे हैं. सहारा के अंदर एमसीसी हमेशा से प्रभावशाली भूमिका में रही है. सारे विभाग अपनी रिपोर्ट एमसीसी के जरिए ही भेजता है और एक तरह से सुब्रत राय सहारा का पूरा कामकाज एमसीसी के जरिए ही देखते आए हैं. लेकिन ताजा घटनाक्रम ने सहारा की आंतरिक कलई खोल दी है. सहारा में आंतरिक तानाबाना बदला जा रहा है. कल शाम को ही इस तरह का एक सर्कुलर नोएडा कैंपस में टांगा गया है. पिछले एक साल में ये पहला मौका है जब सहारा के मालिक सुब्रत राय को इस तरह का सर्कुलर टांगना पड़ा है. विनीत मित्तल के निकाले जाने के कई निहितार्थ बताए जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि कुछ और बड़े लोगों का विकेट गिर सकता है या उनके पर-कद कतरे जा सकते हैं.


AddThis
Last Updated ( Saturday, 04 June 2011 14:47 )