पत्रिका, रायपुर से राजेश वालिया और अनिल मिश्रा का इस्‍तीफा

E-mail Print PDF

पत्रिका रायपुर से पलायन का दौर शुरू हो गया है। प्रबंधन की नीतियों के कारण लोग संस्‍थान को बाय बाय कर रहे हैं। राजस्थान पत्रिका के मालिक निहार कोठारी और समूह संपादक भुवनेश जैन की मौजूदगी में रायपुर संस्करण संपादकीय कोर टीम के दो सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने वालों में सिटी डेस्क इंचार्ज राजेश वालिया एवं विशेष संवाददाता अनिल मिश्रा हैं।

राजेश वालिया हिंदुस्तान, मेरठ से पत्रिका आए थे। वे एक बार फिर मेरठ रवाना हो गए हैं। वालिया संपादक गिरिराज शर्मा की कोर टीम में थे। संपादक के सभी काम-काज जैसे प्रजेंटेशन बनाना आदि का जिम्मा वालिया के पास रहता था। हालांकि नजदीकियों के कारण वालिया से रायपुर के स्थानीय पत्रकार खासा नाराज रहा करते थे। लोग लगातार यह कह रहे थे कि संपादक क स्थानीय लोगों पर भरोसा नहीं है। इसी के चलते भिलाई संस्करण में कुछ दिनों पहले बगावत हुई थी। यहां से ब्यूरो चीफ बृजेश चौबे के साथ चार लोग पत्रिका छोड़कर भास्कर रवाना हो गए थे।

विशेष संवाददाता अनिल मिश्रा पत्रिका ज्‍वाइन करने से पहले तहलका के स्टेट करेंसपाडेंट थे। इससे पहले नई दुनिया में लंबे समय तक दांतेवाड़ा के ब्यूरो चीफ रहे। पत्रिका में उनकी खबर 'पुलिस ने जलाई 300 आदिवासियों के घर'  काफी चर्चित रही। यहां वे स्टेट लेबल की खबरों का प्रकाशन कर रहे थे। अनिल दैनिक  भास्कर, रायपुर संस्करण में विशेष संवाददाता के पद के गए हैं। बताया जा रहा है कि वे संपादक से नाराज चल रहे थे। पत्रिका से तीन और लोगों के छोड़ने की संभावना है। इस संदर्भ में पत्रिका के संपादक गिरिराज शर्मा ने बताया कि दोनों लोगों ने अभी इस्‍तीफा नहीं दिया हैं, परन्‍तु वे दूसरे संस्‍थानों में जा सकते हैं.


AddThis