राज एक्‍सप्रेस से संपादक प्रभु मिश्रा का इस्‍तीफा, नवज्‍योति के आरई बने कमलेश कसोटे

E-mail Print PDF

राज एक्‍सप्रेस, भोपाल से प्रभु मिश्रा ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे यहां पर एडिटर के पोस्‍ट पर कार्यरत थे तथा रविन्‍द्र जैन के जाने के बाद वे ही राज का प्रभार संभाल रहे थे. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन से अनबन होने के बाद उन्‍होंने इस्‍तीफा दिया है. प्रभु पूर्व संपादक रविन्‍द्र जैन का करीबी माना जाता था. कहा जा रहा है कि वे जल्‍द ही किसी बड़े ग्रुप के साथ अपनी नई पारी शुरू करने जा रहे हैं.

प्रभु ने अपने करियर की शुरुआत 1995 में नवभारत से की थी. पांच साल यहां रहने के बाद जागरण से जुड़ गए. यहां भी पांच सालों तक सेवाएं प्रदान की. छह साल पहले वे राज एक्‍सप्रेस का हिस्‍सा बन गए थे.

कमलेश कसोटे ने दैनिक नवज्‍योति के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. वे आरई के रूप में नवज्‍योति से जुड़े हैं. इसके साथ दैनिक नवज्‍योति कोटा में पिछले कई दिनों से चल रही घमासान पर विराम लग गया है. कसोटे के ऊपर अब अपनी टीम तैयार करने की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है. पिछले कुछ दिनों में कई लोग संस्‍थान छोड़कर जा चुके हैं. कमलेश कसोटे राजस्‍थान में सबसे कम उम्र के आरई होंगे. इसके पहले वे पत्रिका, दैनिक भास्‍कर और इंडिया टुडे को अपनी सेवाएं दे चुके हैं.


AddThis
Comments (1)Add Comment
...
written by llkhanna, June 14, 2011
bhai yeshvant ji thoda clear kr le prbho ko bhagaya gya hai. ye kya rijain kare ge.

Write comment

busy