इंडिया न्‍यूज में अतुल अग्रवाल की वापसी

E-mail Print PDF

इंडिया न्‍यूज में एक बार फिर अतुल अग्रवाल की वापसी हो गई है. मैनेजमेंट ने अतुल अग्रवाल को बाहर निकाले जाने के फैसले को वापस ले लिया है. माना जा रहा है कि  एमडी के हस्‍तक्षेप के बाद अतुल की वापसी संभव हो पाई है. कुछ दिन पहले रवीन ठुकराल ने अतुल को बिहार-झारखंड के हेड पद से हटाकर इसकी जिम्‍मेदारी रोहित सदाना को सौंप दी थी. उन्‍होंने अतुल अग्रवाल की विदाई भी इंडिया न्‍यूज से करा दी थी.

अतुल को इंडिया न्‍यूज बिहार-झारखंड की जिम्‍मेदारी उस समय सौंपी गई, जब इस चैनल के हेड रहे उदय चंद्र सिंह को बाहर का रास्‍ता दिखा दिया गया था. सूत्रों का कहना है कि उस समय रवीन ठुकराल की इच्‍छा के विपरीत अतुल अग्रवाल को बिहार-झारखंड का हेड बना दिया गया, तभी से वे अतुल को निपटाने की कोशिशों में लग गए थे.  उन्‍होंने न सिर्फ अतुल को इंडिया न्‍यूज बिहार-झारखंड के हेड पद से हटाया बल्कि चैनल से रुखसती का फरमान भी जारी कर दिया. परन्‍तु एमडी कार्तिक शर्मा के हस्‍तक्षेप के बाद अतुल अग्रवाल ने फिर उसी रास्‍ते से अपनी वापसी करा ली.

चर्चा है कि मैनेजमेंट चैनल की दशा से खुश नहीं है. रवीन को फ्रीहैंड दिए जाने के बाद भी चैनल के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. चैनल के भीतर काम से ज्‍यादा आतंरिक राजनीतिक गतिविधियों तेज होने से मैनेजमेंट सर्जरी करने की तैयारी में हैं. अतुल की वापसी कराके प्रबंधन ने यही संकेत देने की कोशिश की है. रवीन को उड़ने के लिए खुला आसमान देने के बाद प्रबंधन अब उनके पर कतरने की तैयारी में है. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन रवीन को कसने के बाद राहुल देव को छूट देने की तैयारी कर रहा है.

इस संदर्भ में अतुल अग्रवाल का कहना है कि उन्‍हें कभी निकाला ही नहीं गया था तो फिर वापसी का सवाल ही कहां पैदा होता है. यह खबर बिल्‍कुल गलत है. तथ्‍यों को तोड़मरोड़ कर और गलत सूचना के आधार पर छापा गया है, जबकि सच्‍चाई से इसका कुछ भी लेना देना नहीं है.


AddThis
Last Updated ( Saturday, 16 July 2011 22:25 )