द हिंदू से एन रवि, मालिनी पार्थसारथी एवं निर्मला लक्ष्‍मण का इस्‍तीफा

E-mail Print PDF

द हिंदू में वरदराजन को संपादक बनाए जाने का विवाद और ज्‍यादा गहरा गया है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा कंपनी ला बोर्ड को इस मामले पर डे बाई डे सुनवाई के आदेश के बाद संपादक एन रवि, एक्‍जीक्‍यूटिव एडिटर मालिनी पार्थसारथी और ज्‍वाइंट एडिटर निर्मला लक्ष्‍मण ने इस्‍तीफा दे दिया है. ये इस्‍तीफा वरदराजन के संपादक बनाए जाने के विरोध में दिया गया है.

कस्‍तूरी एंड संस लिमिटेड (केएसएल) की बोर्ड मीटिंग में तीनों लोगों ने अपना इस्‍तीफा सौंप दिया. हालांकि तीनों लोग केएसएल के आजीवन डाइरेक्‍टर बने रहेंगे. इस साल की शुरुआत में केएसल बोर्ड की मीटिंग में एन रवि, पार्थसारथी एवं केएसएल के सीनियर मैनेजिंग डाइरेक्‍टर एन मुरली ने वरदराजन के संपादक बनाए जाने समेत कई मुद्दों पर एडिटर इन चीफ एन राम का विरोध किया था.

इसके बाद परिवार के कुछ सदस्‍य कंपनी ला बोर्ड चले गए थे. सीएलबी के आदेश को मद्रास हाई कोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने सीएलबी को आदेश दिया कि सीएलबी इस मामले की सुनवाई डे बाई डे करे.


AddThis
Comments (0)Add Comment

Write comment

busy