बरेली में सीकेटी को लेकर उहापोह, एएन सिंह की रांची से विदाई, सरोज अवस्‍थी रांची पहुंचे

E-mail Print PDF

दैनिक जागरण, बरेली में जीएम कम संपादक चंद्रकांत त्रिपाठी को लेकर तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. खबर उन्‍हें हटाए जाने की भी उड़ रही है  क्‍योंकि प्रबंधन ने उनकी जगह जागरण, रांची के जीएम एएन सिंह को बरेली बुला लिया है. एन सिंह के आने के बाद सीकेटी यानी चंद्रकांत त्रिपाठी का क्‍या होगा, इसे लेकर चर्चाएं जारी हैं. सरोज अवस्‍थी ने भी रांची में कार्यभार संभाल लिया है.

दैनिक जागरण, रांची के जीएम एएन सिंह को कल रांची में जोरदार विदाई दी गई. आठ सालों से जागरण को सेवा दे रहे एएन सिंह का कल रांची में आखिरी  दिन था. इस दौरान उनके लिए जागरण के कार्यालय परिसर में विदाई समारोह आयोजित किया गया था. रांची के सातों हॉकर यूनियन के सैकड़ों हॉकर एएन सिंह को विदाई देने के लिए मौजूद थे. इसके अलावा जागरण के कर्मचा‍री, परिचित भी विदाई समारोह में अंत तक जमे रहे. बताया जा रहा है कि अब तक झारखंड में किसी जीएम को इतनी शानदार विदाई नहीं दी गई थी. कई लोगों की आंखें नम हुई. एएन सिंह भी कई मौकों पर भावुक हुए.

विदाई समारोह के बाद एएन सिंह बरेली पहुंचने के लिए ट्रेन से रवाना हो गए, जबकि पहले एएन सिंह का तबादला आगरा के लिए किया गया था. परन्‍तु बाद में प्रबंधन ने अपना इरादा बदलते हुए उन्‍हें बरेली भेज दिया. सूत्रों का कहना है कि एएन सिंह की जगह दैनिक जागरण, आगरा के जीएम कम संपादक रहे सरोज अवस्‍थी ने अपना कार्यभार ग्रहण कर लिया है. अब वे एएन सिंह की जगह जागरण, रांची के जीएम बन गए हैं. सूत्रों का कहना है कि सरोज अवस्‍थी आगरा में कुछ और दिन रहना चाहते थे, परन्‍तु प्रबंधन के कड़े तेवर के बाद उन्‍होंने रांची पहुंचने में ही अपनी भलाई समझी.

इधर, एएन सिंह का आगरा तबादला नहीं होने के बाद मैनेजमेंट ने यहां विज्ञापन मैनेजर रह चुके तथा फिलहाल मैनेजर एडमिनिस्‍ट्रेटिव रहे सीएस शुक्‍ल को आगरा का जीएम बना दिया है. हालांकि जागरण, आगरा में स्‍थानीय संपादक के रूप में अभी भी सरोज अवस्‍थी का नाम ही जा रहा है. अब देखना है कि सरोज अवस्‍थी के रांची जाने के बाद किसे यहां का स्‍थानीय संपादक बनाया जाता है या किसका नाम स्‍थानीय संपादक के रूप में अखबार के प्रिंट लाइन में जाता है.

सबसे ज्‍यादा चर्चा सीकेटी यानी चंद्रकांत त्रिपाठी के भविष्‍य को लेकर चल रही है. सूत्रों का कहना है कि एएन सिंह के आने के बाद सीकेटी का जाना तो तय है, परन्‍तु उनका पत्‍ता परमानेंट काटा जाएगा या उन्‍हें कहीं और शिफ्ट किया जाएगा यह अभी पूरी तरह स्‍पष्‍ट नहीं है. इस बीच जो बात सामने आ रही है, उसमें प्रबंधन उन्‍हें हटाने का पूरा मन बना लिया है, क्‍योंकि रिटायरमेंट के बाद वे एक्‍सटेंशन पर ही चल रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि फिलहाल अभी उन्‍हें नहीं हटाया जाएगा. उन्‍हें लखनऊ भेजे जाने की योजना प्रबंधन ने बनाई है. उसके बाद ही उनके भविष्‍य पर फैसला लिया जाएगा. संभवत: सोमवार तक स्थिति पूरी तरह स्‍पष्‍ट हो जाएगी.

रांची में जीएम एएन सिंह की विदाई के कुछ भावुक पल

एएन

एएन


AddThis
Last Updated ( Friday, 05 August 2011 12:23 )