राष्ट्रीय सहारा, लखनऊ में दयाशंकर राय डिमोट, मनोज तोमर नए आरई

E-mail Print PDF

सहारा समूह की रीति-नीति को सिर्फ भगवान समझ सकता है या फिर सहाराश्री. दूसरा कोई नहीं जानता. यहां कब किसका क्या कैसे कब तक कहां किधर हो जाए, ये कुछ नहीं कहा जा सकता. उपेंद्र राय जब सहारा मीडिया के हेड बनाकर आए तो पूरे घर को बदल डालूंगा वाले अंदाज में जमकर फेरबदल किया. हर कोने में साफ-सफाई शुरू की. अब जब उनके दिन पूरे हो गए और स्वतंत्र मिश्रा की ताजपोशी कर दी गई तो स्वतंत्र मिश्रा भला अपना पावर दिखाने से कहां चूकेंगे.

उन्होंने भी वही खेल तमाशे शुरू कर दिए हैं, जो उपेंद्र राय ने किए. ताजी सूचना राष्ट्रीय सहारा अखबार के लखनऊ आफिस से है. यहां नोटिस चस्पा कर दिया गया है कि अभी तक रेजीडेंट एडिटर के रूप में काम देख रहे दयाशंकर राय की हैसियत नंबर दो की कर दी गई है. माने उन्हें डमोट कर दिया गया है. मनोज तोमर जो नंबर दो की हैसियत में थे, को नया रेजीडेंट एडिटर बना दिया गया है.

उल्लेखनीय है कि मनोज तोमर पहले लखनऊ में आरई थे. उपेंद्र राय के समय में उनका तबादला गोरखपुर यूनिट में कर दिया गया था. स्वतंत्र मिश्रा ने उन्हें लखनऊ बुलाकर फिर से आरई का पद दे दिया है. इसी तरह रमेश चंद्र भाटी जो उपेंद्र राय से पहले लखनऊ में प्रोडक्शन मैनेजर थे, का तबादला उपेंद्र राय ने बनारस के लिए कर दिया था. अब स्वतंत्र मिश्रा ने उन्हें फिर से लखनऊ का प्रोडक्शन मैनेजर बना दिया है.

अपुष्ट जानकारी के मुताबिक सहारा प्रबंधन ने राष्ट्रीय सहारा, कानपुर के आरई नवोदित के खिलाफ जांच शुरू करा दी है. किन आरोपों के आधार पर जांच कराई जा रही है, यह पता नहीं चल पाया है.

इन सब बदलावों के बारे में स्वतंत्र मिश्रा से जब बात की गई तो उनका कहना था कि मनोज तोमर पहले से ही आरई थे. उन्हें कुछ समय के लिए दूसरी जिम्मेदारी दी गई थी. अब उन्हें फिर से मूल पद पर बहाल कर दिया गया है. राष्ट्रीय सहारा, कानपुर के आरई नवोदित के खिलाफ जांच शुरू होने संबंधी अफहावों को स्वतंत्र मिश्रा ने खारिज किया और कहा कि नवोदित हमारे यहां के अच्छे संपादकों में शुमार किए जाते हैं. स्वतंत्र मिश्रा ने अपील की कि सहारा से जुड़ी अफवाहों को खबर न बनाया जाए क्योंकि सहारा में कई लोग ऐसे हैं जो अफवाहों को बढ़ावा देते रहते हैं.


AddThis
Comments (5)Add Comment
...
written by pankaj piyush, September 08, 2011
nawkree se nikale gaye patwarii manoj tomar ko badhee. safalta kki siriya chadhana koi aapse sekhe.1992 me aap kaya theye aaj kayaa..Swatantra Mishraji ke manegar banne par aapne unki telahee me sampadak ke chugalee karne lage theye usaka inaam yah mila ki aap city desk incharg ho gaye.ja daya sankarji aaye tb aap kaya theye. daya sankar jii amarujjala se sahara me aaye too ve upar se nambar-3 par theye to aap neeche. hai na.sach hai ki mahima bhagwan aur soobratoo rai hee jantee hai.unkoo patrakar nahee aap jaisa dalal chahiye.wo khoobee aapme.hai.
...
written by KUMAR KALPIT, September 03, 2011
yaswant jii sahara mee chaplooshon kee hamesha chandee rahi hai. manoj tomar aur daya shankar rai me jameen aasman ka antar hai. jab city desk incharj howa karte thay tabhee se swatantra misra ke chaploosee kiya karte thay. ye choogoolkhor namber-1.sooroo se hee adekariyoon ko teyll lagatee rahen hai. tomar jii ne barkhast patwaree se rejident editor tak ka safar u hee tay nahee kar liya hai.fir sahara ko isee tarh ke log chahiye. kamleshwar ji rashtriya sahara suru hone ke pahle hee chale gaye lekin swatantra misra, ranvijay singh , govind dikchit bar-bar bejat hone ke bad bhi tike hoove hai. yee kaheen ja bhee to nahee sakte.
...
written by abhishek, September 01, 2011
mujhe Sh.Swatantra mishra ji ka mobile no.ya phir koi contact no.cahhiye....kripya koi madad kare
...
written by Ajay, Patna, August 31, 2011
Swatantra Mishraji ne sahi nirnay liya hai. Upendra Rai aur Vijay Rai ki purani galtiyon ko sanstha ke hit me sudhar rahe hain. Swatantra Mishra ji ki mansha achhi hai. Jo kahte hain wo karte hain, bhale hi thori der ho jaye. Upendra Rai ji ne saharakarmiyon ko kewal jhuthi dilasa di. Unhe dhokhe me rakha. Akhir ye dhokha kab tak chalta. Saharasri ji ke samne unki pol khul gayi hai. ye ab dubara media me nahi aa sakte. Kath ki Handi dubara nahi chadhti hai. Mishra ji se aagrah hai ki sahi kartavyyogiyon ko sahi jagah aur pad de.bhale hi koi virodh kare. virodhi log sahi log ko aapke karib nahi aane denge. Tarah tarah ke afwah udayenge. Aapki majbooti me hi sansthan ka hit hai. Sahi aur imandar logon per bharosha kijiye. Aapke sath sahara India Pariwar hai.
...
written by pradeep kumar dixit, August 30, 2011
I have read this news today and i was very happy to read this.......and i hope with ur preference sahara news will achieve great success.....

Write comment

busy
Last Updated ( Tuesday, 30 August 2011 14:27 )